नेशनल

राम मंदिर निर्माण पर कोई विकल्प नहीं बचा तो संसद में लाएंगे बिल: केशव प्रसाद मौर्य

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
2294
| अगस्त 20 , 2018 , 20:02 IST

चुनावी सरगर्मियों के बीच राम मंदिर निर्माण का मुद्दा एक बार फिर सियासी बयानों का हिस्सा बन रहा है। राम मंदिर के मुद्दे पर उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद के मौर्य के बयान पर सियासी गलियारों में हलचल शुरू हो गई है। केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के मुद्दे पर हमारे पास तीन विकल्प हैं। पहला इस मामले में कोर्ट का निर्णय जल्द आएगा। दूसरा हम इस मुद्दे को बातचीत से सुलझा लेंगे। इसके अलावा हमारे पास तीसरा विकल्प भी है, अगर जरूरत हुई तो हम संसद के अंदर कानून बनाकर मंदिर निर्माण कराएंगे।

हालांकि केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि इस मामले में दो विकल्प हैं। दोनों समाप्त होने के बाद हम तीसरे विकल्प पर हम जाएंगे। मौजूदा वक्त में संसद के दोनों सदनों में बहुमत न होने का हवाला देते हुए केशव प्रसाद मौर्य ने चुनावी संकेत भी दे दिए। मौर्य ने कहा, 'राम मंदिर का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में लंबित है और इस पर लगातार सुनवाई चल रही है। हमें आशा है कि जल्द ही इस पर फैसला आएगा।'

उनके इस बयान के बाद एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी का बयान आया है। ओवैसी ने कहा, जब अयोध्या मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। ऐसे में उनके पास इस मामले में बोलने का कोई अधिकार नहीं है। उनका ये बयान बुरा ही नहीं बेकार भी है।

केशव प्रसाद मौर्य का कांग्रेस पर हमला केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, 'तुष्टीकरण की राजनीति ने राम मंदिर को लंबे समय तक रोककर रखा। विश्व हिंदू परिषद ने जब आंदोलन किया तब जाकर ताला खुला। हम लोग सर्वोच्च न्यायालय से अपील और अपेक्षा करते हैं कि जल्द से जल्द इस मामले में निर्णय आए। हर राम भक्त की यही इच्छा है कि राम मंदिर बने।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें