नेशनल

देश में कम हो रही हिंदू आबादी, बढ़ रहे हैं अल्पसंख्यक: किरण रिजिजू

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1499
| फरवरी 13 , 2017 , 19:59 IST

केन्द्रीय मंत्री किरण रिजिजू के एक बयान पर विवाद खड़ा हो गया है। रिजिजू ने कहा कि भारत में हिंदू आबादी कम हो रही है क्योंकि वे ‘कभी लोगों का धर्म परिवर्तन’ नहीं कराते जबकि कुछ अन्य देशों के विपरीत हमारे यहां अल्पसंख्यक फल फूल रहे हैं। रिजिजू ने ट्वीट कर कहा,

भारत में हिंदुओं की आबादी कम हो रही है क्योंकि हिंदू कभी लोगों का धर्म परिवर्तन नहीं कराते। लेकिन हमारे आस पास के कुछ अन्य देशों के विपरीत भारत में अल्पसंख्यक फल फूल रहे हैं।

कुछ दिन पहले अरुणाचल प्रदेश कांग्रेस समिति ने नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार पर अरुणाचल प्रदेश को एक हिंदू राज्य में बदलने की कोशिश करने का आरोप लगाया था जिसके बाद गृह राज्यमंत्री का यह बयान आया है। उन्होंने कांग्रेस के इन आरोपों के जवाब में कई ट्वीट कर कहा,

क्यों कांग्रेस इस तरह के गैर जिम्मेदाराना बयान दे रही है? अरुणाचल प्रदेश के लोग एक-दूसरे के साथ शांतिपूर्ण तरीके से एकजुट होकर रहते हैं। कांग्रेस को ऐसे उकसाने वाले बयान नहीं देने चाहिये। भारत एक धर्म निरपेक्ष देश है। सभी धार्मिक समूह आजादी से और शांतिपूर्ण तरीके से रहते हैं।

रिजिजू अरुणाचल प्रदेश के रहने वाले हैं और बौद्ध धर्म के अनुयायी है।

O-KIREN-RIJIJU-facebook

राज्यमंत्री के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुये ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि उन्हें यह याद रखना चाहिये कि वह ‘सभी भारतीयों के लिए भारत के मंत्री हैं ना कि केवल हिंदुओं के लिए’। ओवैसी ने कहा, ‘‘एक मंत्री के रूप में ली गयी शपथ को याद रखिये। भारत के अल्पसंख्यकों को अन्य देशों के अल्पसंख्यकों से क्या लेना देना। संविधान में अधिकारों की गारंटी दी गयी है।’’

आपको बता दें कि वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार भारत में हिंदुओं की आबादी 79.80 प्रतिशत, मुसलमानों की 14.23, ईसाईयों की 2.30, सिखों की 1.72, बौद्धों की 0.70 और जैनों की 0.37 प्रतिशत आबादी थी।

वहीं वर्ष 2001 की जनगणना के अनुसार देश में हिंदू आबादी 80.5 फीसदी जबकि मुसलमानों की आबादी 13.4, ईसाईयों की 2.3, सिखों की 1.9, बौद्धों की 0.80 और जैनों की 0.4 प्रतिशत आबादी थीं।


कमेंट करें