राजनीति

कौन हैं कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला, कभी मोदी के लिए अपनी सीट की कुर्बानी दी थी

अमितेष युवराज सिंह | न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
3671
| मई 16 , 2018 , 15:40 IST

कर्नाटक में किसकी सरकार बनेगी इसका फैसला राज्यपाल वजुभाई वाला को करना है। राज्य में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है जबकि गठबंधन करने के बाद कांग्रेस और जेडीएस की संख्या ज्यादा हो जाती है। ऐसे में अब वजुभाई वाला को तय करना है कि वो सरकार बनाने के लिए किसे बुलाते हैं।

अब सबकी नजरें राज्‍यपाल वजुभाई वाला पर टिकी हैं। आपको बता दें कि वजुभाई वाला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बेहद करीबी माने जाते हैं। वह गुजरात बीजेपी के कद्दावर नेता रहे हैं। गुजरात के कारोबारी परिवार से आने वाले वजुभाई का संघ से बहुत पुराना नाता रहा है। संघ के कार्यकर्ता के तौर पर उन्होंने राजनीति का ककहरा सीखा और राजकोट के मेयर भी रहे। अपने पूरे राजनीतिक जीवन में वो हमेशा सत्ता के करीब रहने वाले नेताओं में से एक रहे हैं।

Vajubhai wala

एक जमाना था जब राजकोट में कांग्रेस कभी हारती नहीं थी। लेकिन 1980 के बाद एक जमाना ऐसा भी आया जब कांग्रेस इस सीट पर कभी जीत नहीं पाई। कांग्रेस की इस हार के पीछे जो शख्‍स था, उनका नाम है वजुभाई वाला। वजुभाई वाला वही शख्‍स हैं, जिन्‍होंने 2001 में नरेंद्र मोदी के लिए अपनी राजकोट सीट खाली की थी। उस वक्‍त नरेंद्र मोदी सीएम बन चुके थे और वजुभाई वाला की खाली सीट पर नरेंद्र मोदी ने 45 हजार से ज्‍यादा वोटों प्राप्‍त कर जीत दर्ज की थी।

Vajubhai-Vala

(फाइल फोटो)

वजुभाई वाला गुजरात के राजकोट सीट से 7 बार चुनाव जीत चुके हैं। साल 2012 बतौर विधायक उनका आखिरी चुनाव था। 2012 से 2014 तक वो गुजरात विधानसभा के स्पीकर रहे। इससे पहले गुजरात की मोदी कैबिनेट में वो बतौर वित्त मंत्री भी काम कर चुके हैं। गुजरात सरकार में वह 1997 से 2012 तक कैबिनेट मंत्री तक की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं।

केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार आने के बाद साल 2014 में उन्हें कर्नाटक का राज्यपाल बनाया गया।

 


कमेंट करें