नेशनल

क्या कुलभूषण जाधव को टॉर्चर कर रहा है पाकिस्तान? गर्दन और सिर पर चोट के निशान

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
924
| दिसंबर 26 , 2017 , 09:13 IST

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नेवी के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव की पत्नी और मां ने सोमवार को इस्लामाबाद में जाधव से मुलाकात की। मुलाकात के दौरान कुलभूषण और उसके परिवार के बीच कांच की एक मोटी दीवार थी।

मां और पत्नी से शीशे के आर पार मुलाकात की गयी मुलाकात की तस्वीरें सामने आयी। लेकिन जो तस्वीर सामने आई है उसने कई आशंकाओं को गहरा कर दिया है।

मुलाकात के दौरान जाधव नीले रंग के कोट में दिख रहे हैं। इस दौरान जाधव के दाहिने कान पर गहरे रंग का निशान दिख रहा है। उनके सिर और गले पर भी कुछ निशान देखे गए हैं, जिनके बारे में आशंका है कि वे चोट के निशान हैं।

कांग्रेस नेता और सांसद शशि थरूर ने भी इस पर सवाल किया है। जाधव के सिर और गाल पर निशान दिख रहे हैं। ऐसे में टॉर्चर किए जाने की आशंका बढ़ गई है।

आशंका जताई गई है कि जाधव को टॉर्चर किया गया है और उनके कान पर गहरे रंग का निशान वह चोट का निशान हैं।

शहजाद पूनावाला ने भी ट्वीट कर आशंका व्यक्त की है कि पाक, जाधव को टॉर्चर कर रहा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि जो मुलाकात हुई उसका क्या मतलब है।

पाकिस्तान ने मानवता के सभी मापदंडों की अवहेलना की। यहां तक कि मुलाकात से पहले जाधव की पत्नी और मां के कपड़े तक बदलवाए गए और उनके कानों की बाली से लेकर बिंदी भी हटा दी गई। जब जाधव के परिजन इस्लामाबाद पहुंचे तब पत्नी और मां बिंदी लगाए हुईं थीं और दोनों के कानों में बालियां थी। लेकिन मुलाकात के दौरान कमरे में बैठे परिजनों के कान खाली है और बिंदी भी हटा दी गई।

मुलाकात से पहले और बाद के फोटो से साफ है कि इस्लामाबाद पहुंचने के बाद जाधव की मां और पत्नी के कपड़े बदलवाए गए थे। मुलाकात से पहले की फोटो में मां ने सफेद रंग की साड़ी पहनी हुई थी और वह एक शॉल लिए हुए हैं, जबकि पत्नी पीले रंग का सूट पहने हुई थी और लाल से रंग की एक शॉल ओढ़े हुईं थीं। मुलाकात के बाद भी दोनों इन्हीं कपड़ों में नजर आए लेकिन बंद कमरे में मुलाकात के दौरान दोनों की ही वेशभूषा अलग थी।

गौरतलब है कि कुलभूषण जाधव को जासूसी के आरोप में फांसी की सजा सुनाई गई है। 25 दिसंबर 2017 यानी की आज कड़ी सुरक्षा के बीच पाकिस्तान विदेश कार्यालय में कुलभूषण की मां और पत्नी उनसे मिलने के लिए पहुंची। तस्वीरों को देखने से इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि ये मुलाकात दबाव भरे माहौल में हुई। पाकिस्तान सरकार ने मुलाकात तो कराई लेकिन कुलभूषण जाधव को शीशे के एक और उनके परिवार को अन्य और बिठाकर रखा। इस मुलाकात के बाद पाकिस्तान का असली चेहरा तो तब सामने आया जब पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ मोहम्मद फैजल ने यहां तक कह दिया कि कुलभूषण जाधव पाकिस्तान में भारतीय आतंकवाद का चेहरा है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें