बिज़नेस

सिक्कों की अधिकता का हवाला देते हुए भारत सरकार ने बंद किए 1,2 और 5 के सिक्के

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
384
| जनवरी 11 , 2018 , 12:29 IST

पीएम नरेन्द्र मोदी ने भारतीय अर्थव्यवस्था में सुधार के खातिर कई अहम फैसले लिए हैं। तमाम फैसलों में नोटबंदी और (GST) प्रमुख रूप से शामिल हैं। कुछ समय में ही मोदी के अपने शासनकाल के चार साल पूरे हो भी हो जाएंगे।

ऐसे में केंद्र सरकार अर्थव्यवस्था में एक और बड़ा बदलाव लाने की तैयारी कर रही है। सरकार सिक्के बंद करने की योजना पर काम कर रही है।

चार सरकारी छापाखानों ने बाजार में सिक्के की अधिकता तथा भंडारण के लिए जगह की कमी का हवाला देते हुए सिक्कों का उत्पादन बंद कर दिया है। जानकारी के मुताबिक़, 8 जनवरी तक 2500 MPCS सिक्कों का स्टोरेज है, जिस वजह से RBI ने सरकार के अगले आदेश तक सिक्कों का उत्पादन बंद कर दिया है।

 

सरकारी सूत्रों ने बताया कि कोलकाता, मुंबई, नोएडा और हैदराबाद स्थित छापाखानों ने यह बंद किया है। छापाखानों का संचालन करने वाली सार्वजनिक कंपनी सिक्योरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड ने मंगलवार एक निर्देश में कहा था कि प्रचलन वाले सिक्कों का उत्पादन तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया गया है।

उसमें कहा गया था कि छापाखानों में बिना ‘ओवरटाइम’ के कार्य के सामान्य घंटों में काम होता रहेगा।

इसे भी पढ़ें:- दावोस में हो सकती है ट्रंप-मोदी मुलाकात, WEF में पहली बार शिरकत करेंगे PM

वहीं इससे पहले लोकसभा में मोहम्मद सलीम के प्रश्न के लिखित उत्तर में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि आरबीआई ने सूचित किया है कि उसे जनता और कुछ संगठनों की ओर से शिकायतें मिली हैं कि बैंक सिक्के स्वीकार नहीं कर रहे हैं। आरबीआई ने बैंको को परामर्श दिया है कि वे लेनदेन और विनिमय में सिक्के स्वीकार करें।

जेटली ने कहा कि आरबीआई के क्षेत्रीय कार्यालयों को निर्देश दिया गया है कि वे अपने तहत आने वाले बैंकों के नियंत्रकों को सभी शाखाओं में सिक्के स्वीकार करने का निर्देश दें।

उन्होंने कहा कि आरबीआई के क्षेत्रीय कार्यालयों को भी परामर्श दिया गया है कि वे जनता से सिक्के स्वीकार करने के लिए अपने काउंटर खोलें। वित्त मंत्री ने कहा कि आरबीआई के आदेशानुसार लोग बैंक शाखाओं में सिक्के बदल सकते हैं।


कमेंट करें