नेशनल

चारा घोटाले में लालू यादव को साढ़े तीन साल की सजा, 5 लाख का जुर्माना भी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
419
| जनवरी 6 , 2018 , 16:53 IST
सीबीआई की विशेष अदालत ने शनिवार को लालू प्रसाद यादव को चारा घोटाले के मामले में दोषी ठहराते हुए साढ़े तीन साल की सजा के साथ 5 लाख का जुर्माना लगाया है। आरजेडी सुप्रीमो और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव समेत 16 अपराधियों को के खिलाफ सजा सुनाया है। बता दें सजा सुनाने के पहले सीबीआई जज ने लालू प्रसाद यादव पर तीखी टिप्पणी की उन्होंने कहा कि, दोषियों के लिए ओपन जेल ठीक होगी क्योंकि उन्हें 'गाय पालने' का अनुभव है।
 
जानकारी के लिए बता दें अदालत ने विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा दोषियों के खिलाफ सजा सुनाई। पिछले 23 दिसंबर को चारा घोटाले में दोषी ठहराए जाने के बाद से लालू यादव रांची की जेल में बंद थे। बता दें सीबीआई जज ने 1990-1994 के बीच देवघर के सरकारी कोषागार से 89.27 लाख रुपये की अवैध निकासी के मामले में लालू समेत 16 लोगों को दोषी करार दिया था। जबकि अदालत ने पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा समेत छह आरोपियों को बरी कर दिया था। 

तो वहीं लालू के वकील ने अदालत से लालू के खराब स्वास्थ्य का हवाला देकर उनसे रहम की अपील की थी। लालू यादव के वकील ने कहा कि, 'लालू डायबीटीज और ब्लड प्रेशर के मरीज हैं। उन्होंने आगे कहा कि, लालू गुरुवार को लगभग बेहोश हो गए थे।' 

बता दें कोर्ट ने जिन आरोपियों को चारा घोटाला मामले में दोषी करार दिया है, उनमें लालू यादव के अलावा आरके राणा, जगदीश शर्मा, तीन आईएएस अधिकारी तत्कालीन वित्त आयुक्त फूलचंद सिंह, पशुपालन विभाग के तत्कालीन सचिव बेक जूलियस एवं एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी महेश प्रसाद भी शामिल हैं।
Lalu-1515202991 गौरतलब है कि साल 2013 में भी अदालत ने उन्हें चाईबासा कोषागार से 37.5 करोड़ रुपये की अवैध निकासी का दोषी करार देते हुए पांच साल जेल की सजा सुनाई थी। इतना ही नहीं 25 लाख रुपये जुर्माना भी लगाया था। इस मामले से जुड़े सीबीआई सूत्रों के मुताबिक, लालू यादव के नाम पर पांच मामले झारखंड में और एक मामला बिहार में दर्ज हुआ है। 

उन्होंने बताया कि झारखंड के पांचों मामलों में से लालू सिर्फ दो में दोषी करार दिए गए है । बाकी के 3 मामलों में ट्रायल जारी है। इनमें दुमका ट्रेजरी से 3.97 करोड़ रुपये का, चाईबासा ट्रेजरी से 36 करोड़ रुपये का, डोरंडा ट्रेजरी से 184 करोड़ रुपये का जबकि बिहार की भागलपुर ट्रेजरी से 45 लाख रुपये की अवैध निकासी के मामले शामिल हैं।
 
देखें वीडियो:


कमेंट करें