नेशनल

लखनऊ गोलीकांड: UP पुलिस ने मानी गलती, कॉन्स्टेबल अरेस्ट, SIT का गठन

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1563
| सितंबर 29 , 2018 , 13:48 IST

लखनऊ के गोमती नगर इलाके में यूपी पुलिस के कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी ने ऐप्पल के सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी को गोली मारी जिससे उनकी मौत हो गई है। आरोपी कॉन्स्टेबल को गिरफ्तार कर लिया गया है। साथ ही पुलिस ने इस मामले में SIT गठित कर दी है।

उधर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि लखनऊ की घटना एनकाउंटर नही है। पूरी घटना की जांच होगी। और जरुरत पड़ी तो सीबीआई जांच भी कराएंगे।

क्या है पूरा मामला

मीडिया में आ रही खबरों की माने तो विवेक आईफोन की लॉन्चिंग करके लौट रहे थे, रास्ते में पुलिस ने उन्हें गाड़ी रोकने का इशारा किया तो बात बढ़ गई और कॉन्सटेबल ने विवेक पर गोली चला दी जिसके बाद उसकी मौत हो गई, एसएसपी के मुताबिक आरोपी कॉन्सटेबल को गिरफ्तार कर लिया गया है।

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने इस मामले पर बात करते हुए कहा है कि गोमतीनगर थाने में आईपीसी धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि, "शिकायतकर्ता सना खान ने बताया की शुक्रवार रात वह अपने कलीग विवेक तिवारी के साथ घर जा रही थीं, उनकी गाड़ी सीएमएस गोमतीनगर विस्तार के पास खड़ी थी, तभी सामने से दो पुलिसवाले आए और इन्होंने बचकर निकलने की कोशिश की लेकिन कॉन्सटेबल ने बाइक दौड़ाकर विवेक के गले में गोली मारी। सना की शिकायत के बाद हत्या का ममला दर्ज कर लिया गया है।

विवेक की पत्नी का बयान

विवेक की पत्नी ने अपने दिए एक बयान में पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा है कि, 'यह हादसा नहीं हत्या है। पुलिस ने मेरे पति की कार पर गोली क्यों चलाई। पति से रात में डेढ़ बजे मेरी बात हुई थी। मेरी जानकारी में था कि सना विवेक के साथ थी। सीएम योगी आदित्यनाथ आएंगे तभी अंतिम संस्कार किया जाएगा।'

इसके साथ ही कल्पना ने आपत्तिजनक स्थिति में देखे जाने के पुलिस के दावे को गलत ठहराते हुए कहा, 'मेरे पति आपत्तिजनक हालत में नहीं थे। उन कैरेक्टर पर पुलिस का दावा गलत है। गलत करते देखे थे तो उन्हें जेल में डाल देना चाहिए।'

घटनास्थल पर पहुंचे आधिकारी का बयान

इस घटना के बाद एसएसपी ने आरोपों पर सफाई देते हुए कहा है कि, 'दो अन्य पुलिसवालों ने भी उन्हें रोकने की कोशिश की तो वह नहीं रुके और कॉन्सटेबल ने गोली चला दी। इसके बाद घबराकर उनकी कार अंडरपास के पिलर से टकरा गई और विवेक को गहरी चोट लग गई जिसके बाद पुलिस उन्हे अस्पताल ले गई जहां देर रात इलाज के दौरान मौत हो गई।

इस घटना के बाद मौके पर लखनऊ के आला-अधिकारी पहुंचे और घटनास्थल का मुआयना किया। विवेक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। अब पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही यह पता चल पाएगा कि विवेक की मौत कार टकराने की वहज से आई चोटों की वजह से हुई है या फिर गोली लगने से।


कमेंट करें