ऑटोमोबाइल

महिंद्रा और फोर्ड में फिर हुई दोस्ती, भारत के लिए दोनों कंपनियां मिलकर बनाएंगी कार

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
1834
| सितंबर 19 , 2017 , 17:47 IST

भारतीय ऑटोमोबाइल समूह महिंद्रा और अमेरिका की फोर्ड मोटर एक बार फिर साथ मिलकर काम करेंगी। इन दोनों कंपनियों के बीच प्रॉडक्ट्स, टेक्नोलॉजी, डिस्ट्रीब्यूशन और इलेक्ट्रिक कारों जैसे मामलों में मिलकर काम करने के लिए तीन साल की साझेदारी हुई है। इससे पहले भी ये दोनों कंपनियां साथ काम कर चुकी हैं, वो करार 1998 में समाप्त हुआ था।अमेरिकी कंपनी फोर्ड ने महिंद्रा एंड महिंद्रा के साथ पार्टनरशिप में फोर्ड एस्कॉर्ट बनाने के लिए 1995 में भारत में प्रवेश किया था, लेकिन तीन वर्ष बाद फोर्ड ने अपने दम पर देश में बिजनेस करने का फैसला किया था।

हालांकि, फोर्ड से मिले अनुभव का महिंद्रा एंड महिंद्रा को अच्छा फायदा हुआ और कंपनी को इससे स्कॉर्पियो और अन्य मॉडल्स डिवेलप करने में मदद मिली थी। महिंद्रा एंड महिंद्रा ट्रैक्टर बनाने वाली कंपनी से बढ़कर एसयूवी के सेक्टर में भी आ गई थी।

महिंद्रा और फोर्ड ने अपने संयुक्त रूप से जारी बयान में कहा, "फोर्ड की वैश्विक पहुंच और विशेषज्ञता और महिंद्रा के भारत में बड़े पैमाने पर सफल संचालन मॉडल का लाभ उठाने के लिए दोनों कंपनियां रणनीतिक भागीदारी पर सहमत हुई हैं।"

बयान में कहा गया, "दोनों कंपनियों के बीच हुआ समझौता ग्लोबल मोटर व्हीकल बिजनेस में दोनों कंपनियों को अपनी पारस्परिक ताकत का लाभ उठाने का अवसर देगा।"

फोर्ड के कार्यकारी उपाध्यक्ष और वैश्विक बाजारों के अध्यक्ष जिम फारले ने एक बयान में कहा, "फोर्ड भारत के प्रति प्रतिबद्ध है और यह साझेदारी हमें सबसे अच्छे वाहन और सेवाओं को प्रदान करने में मदद करेगा।"

महिंद्रा एंड महिंद्रा लि. के प्रबंध निदेशक पवन गोयनका ने कहा, "यह गठबंधन फोर्ड के साथ साझेदारी की पिछली नींव पर रखी गई है और इससे दोनों कंपनियों के लिए अवसर खुलेगा।"


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें