राजनीति

मोबाइल लिंकिंग पर ममता का फूटा गुस्सा, बोलीं- काट दो मेरा फोन, नहीं जोड़ूंगी आधार से

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
583
| अक्टूबर 25 , 2017 , 19:40 IST

ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि वे किसी भी कीमत पर अपने मोबाइल नंबर को आधार से लिंक नहीं कराएंगी। वेस्ट बंगाल की सीएम ने पार्टी वर्कर्स और लीडर्स को एड्रेस करते हुए कहा कि वे दूसरे लोगों से इस मामले में मुकदमा दायर करने को भी कहेंगी। बता दें कि टेलीकॉम डिपार्टमेंट (DoT) ने कहा है कि 23 मार्च तक सभी लोग अपने मोबाइल नंबरों को आधार से लिंक करा लें।

Mamta 2

मोबाइल को आधार से लिंक कराना प्राइवेसी में दखलंदाजी

ममता ने केंद्र सरकार और उसकी पॉलिसीज पर निशाना साधते हुए कहा, "मैं बिल्कुल ऐसा नहीं करूंगी, चाहे मोबाइल कनेक्शन बंद हो जाए। मैं ज्यादा से ज्यादा लोगों से कहूंगी कि वे इसी तरह अपना विरोध जताएं। मोबाइल को आधार से लिंक कराना प्राइवेसी में दखलंदाजी है। इससे पति-पत्नी के बीच निजी बातचीत भी पब्लिक हो जाएगी। जबकि कुछ निजी मामले ऐसे होते हैं, जिन्हें पब्लिक नहीं किया जा सकता।"

DoT के नोटिफिकेशन को चुनौती

टेलीकॉम डिपार्टमेंट (DoT) ने मोबाइल नंबर को आधार से लिंक कराने को लेकर एक नोटिफिकेशन जारी किया था, जिसे अदालत में चुनौती दी गई है। तहसीन पूनावाला ने पिटीशन फाइल कर डिपार्टमेंट के 23 मार्च वाले नोटिफिकेशन पर सवाल उठाए है। पिटीशनर ने DoT के नोटिफिकेशन को असंवैधानिक करार दिया है।
पिछले महीने सामने आई एक रिपोर्ट में कहा गया था कि जो सिम कार्ड्स आधार से लिंक नहीं होंगे, उन्हें फरवरी 2018 के बाद डिएक्टीवेट किया जा सकता है।

Sc 1

SC ने सरकार को क्या सलाह दी थी

इस साल 6 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को निर्देश दिया था कि वह 100 करोड़ से ज्यादा लोगों (भावी मोबाइल फोन कंज्यूमर्स) के पहचान की जांच के लिए एक मैकेनिज्म सालभर के अंदर तैयार करे। सुप्रीम कोर्ट ने लोक नीति फाउंडेशन की पिटीशन पर सुनवाई करते हुए यह सलाह भी दी थी कि कुल मोबाइल यूजर्स के 90% मौजूदा प्री-पेड मोबाइल यूजर्स से कहा जा सकता है कि वे रिचार्ज के वक्त या नए सिम कार्ड लेते वक्त अपनी पहचान से जुड़ी जानकारी दें।

 

 


कमेंट करें