इंटरनेशनल

न्यूजीलैंड की मस्जिदों में गोलीबारी, 40 लोगों की मौत, बाल-बाल बची बांग्लादेश क्रिकेट टीम

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1633
| मार्च 15 , 2019 , 12:27 IST

न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में शुक्रवार को दो मस्जिदों में कम से कम दो हमलावरों ने अंधाधुंध गोलीबारी की। पुलिस ने इस घटना में कई लोगों की मौत की आशंका जताई है। 'द न्यूजीलैंड हेराल्ड' की रिपोर्ट के अनुसार, गोलीबारी ए1 नूर मस्जिद और लिनवुड मस्जिद में हुई। पुलिस कमिश्नर माइक बुश ने कई लोगों की मौत की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है।

बुश ने मीडिया को बताया, "इस क्षेत्र में और अधिक हमलावरों की मौजूदगी को लेकर हम अनिश्चित हैं। हमने इसकी प्रतिक्रिया के लिए पुलिस संसाधन जुटा लिया है और हम लोगों को सुरक्षित करने के लिए देश के प्रत्येक पुलिस संसाधन को तैनात करने की प्रक्रिया में हैं।"

बुश ने बताया कि ऑस्ट्रेलियाई माने जा रहे एक हमलावर ने मस्जिद में लोगों को गोली मारते समय उसका वीडियो भी बनाया और लिखा कि 'यह एक आतंकवादी हमला है।' प्रधानमंत्री जेसिंडा एर्डर्न ने न्यू प्लाईमाउथ में मीडिया को संबोधित करते हुए क्राइस्टचर्च की घटना को न्यूजीलैंड के इतिहास की सबसे खराब घटना बताया।

मस्जिद में फायरिंग के प्रत्यक्षदर्शी इदरीश खैरुद्दीन (14 साल) ने बताया कि जैसे ही नमाज शुरू हुई, तैसे मैंने फायरिंग की आवाज सुनी। पहले मुझे लगा कि कुछ निर्माण काम चल रहा है, उसकी आवाज है, लेकिन थोड़ी देर बाद लोग भाग रहे थे और चिल्ला रहे थे।

हिलमॉर्टन हाई स्कूल में पढ़ने वाले इदरीश ने बताया कि उसके चाचा तमीजी को भी गोली लगी. जब फायरिंग हो रही थी, तब वह दरवाजे के पास बैठा था। मैं चुपके से हागले पार्क में भागने में कामयाब हुआ. इदरीस और उसके चाचा दोनों मलेशियाई हैं और क्राइस्टचर्च के रहने वाले थे।

फेसबुक पर लाइव था बंदूकधारी-:

न्यूजीलैंड की मीडिया के मुताबिक, क्राइस्टचर्च के मस्जिदों में फायरिंग का बंदूकधारी ने 17 मिनट तक लाइव वीडियो बनाया. बंदूकधारी की पहचान ब्रेंटन टैरंट के रूप में हुई है। 28 वर्षीय ब्रेंटन टैरंट ऑस्ट्रेलिया का रहने वाला है।

बंदूकधारी ने पहले डीन एवेन्यू में अल नूर मस्जिद के पास अपनी कार पार्क की. इसे बाद उसने बंदूक निकाला और मस्जिद में घुसते ही अंधाधुंध फायरिंग करने लगा. बताया जा रहा है कि वह आर्मी ड्रेस पहना था और उसने करीब दो मैगजीन फायरिंग की। उसकी गाड़ी में कई और हथियार पड़े हुए थे।

गोलीबारी के वक्त मस्जिद में थे बांग्लादेशी क्रिकेटर-:

गोलीबारी के वक्त बांग्लादेशी क्रिकेटर मस्जिद में नमाज़ पढ़ रहे थे, जिसके बाद तुरंत उन्हें वहां से निकाला गया। बांग्लादेशी क्रिकेटर पुलिस सुरक्षा के घेरे में वहां से निकले और किसी तरह उनकी जान बच पाई। बांग्लादेशी क्रिकेटर तमीम इकबाल ने भी ट्वीट कर बताया कि उनकी पूरी टीम इस समय सुरक्षित है, आप हमें दुआओं में याद रखें।


कमेंट करें