नेशनल

बड़ी कामयाबी: सुजवां आर्मी कैंप अटैक का मास्टरमाइंड मुफ्ती वकास किया गया ढेर

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1133
| मार्च 5 , 2018 , 20:46 IST

जम्मू के सुंजवान आर्मी कैंप पर हमले के महज एक महीने के भीतर ही सेना ने इस हमले के मास्टरमाइंड को मार गिराया है। इसे सुरक्षाबलों के लिए बड़ी कामयाबी के तौर पर देखा जा रहा है। पुलवामा के अवंतिपोरा इलाके में हुई एक मुठभेड़ के दौरान सेना की 50 राष्ट्रीय राइफल्स और एसओजी के जॉइंट ऑपरेशन में सुंजवान हमले के मास्टरमाइंड मुफ्ती वकास को ढेर कर दिया गया। इस ऑपरेशन के दौरान एक पुलिसकर्मी के घायल होने की खबरे है, जिसे इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में दाखिल कराया गया है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक सेना की मिलिट्री इंटेलिजेंस को सोमवार शाम पुलवामा के अवंतिपोरा स्थित हटवार इलाके में मुफ्ती वकास की मौजूदगी के इनपुट मिले थे। ए++ ग्रेड के आतंकी मुफ्ती वकास की मौजूदगी के बाद सेना की 50 राष्ट्रीय राइफल्स, एसओजी और सीआरपीएफ ने संयुक्त रूप से इस इलाके की सख्त घेराबंदी शुरू की। इस घेराबंदी के बीच ही आतंकी द्वारा सुरक्षाबलों पर फायरिंग की गई, जिसके बाद जवाबी कार्रवाई में उसको मार गिराया गया है।

पाकिस्तानी आतंकी था मुफ्ती वकास

इस ऑपरेशन के बारे में कश्मीर रेंज के आईजी एसपी पाणी ने बताया कि मारा गया आतंकी मुफ्ती वकास पुलवामा के लेथीपोरा और जम्मू के सुंजवान में सुरक्षाबलों के कैंप पर हुए हमलों का मास्टरमाइंड था। उन्होंने बताया कि ढेर किया आतंकी पाकिस्तानी है और उसके कब्जे से आईईडी बनाने के सामान, घातक हथियार व अन्य चीजें बरामद की गई हैं।

नूर मोहम्मद तांत्रे के बाद बनाया गया था कमांडर

बता दें कि मारे गए आतंकी मुफ्ती वकास को जैश-ए-मोहम्मद के पूर्व कमांडर नूर मोहम्मद तांत्रे के मारे जाने के बाद ऑपरेशनल कमांडर बनाया गया था। कमांडर बनाए जाने के बाद वकास ने सुंजवान के जिस हमले की साजिश रची थी, उसमें आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान सेना के 6 जवान शहीद हुए थे। 10 फरवरी को हुए इस हमले में 50 घंटे से ज्यादा देर तक चली मुठभेड़ में तीन आतंकियों को मार गिराया गया था, जिनके पास से एके-47 राइफल समेत तमाम सामान बरामद किये गए थे।


कमेंट करें