नेशनल

यूपी: स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रगान का मौलवी ने किया विरोध, 3 गिरफ्तार

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2297
| अगस्त 16 , 2018 , 12:18 IST

स्वतंत्रता दिवस पर एक चौकाने वाला मामला सामने आया है। एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें ध्वजारोहण करने के बाद मदरसे का एक मौलाना वहां राष्ट्रगान गाने से रोकता दिखाई दे रहा है। ये घटना उत्तर प्रदेश के महाराजगंज की है। इस वीडियो को वायरल होने के बाद पुलिस ने बड़ी सक्रियता दिखाते हुए तीन लोगों को तुरंत गिरफ्तार कर लिया है।

महाराजगंज के कोल्हुई क्षेत्र के बड़गो स्थित एक मदरसा स्कूल में यह पूरी घटना हुई है। वायरल विडियो में देखा जा सकता है कि मदरसे के एक मौलवी ने झंडा फहराया। तभी वहां खड़े एक शख्स ने कहा कि सब सावधान खड़े हो जाएं, अब राष्ट्रगान होगा। इस पर एक मौलवी ने आपत्ति जताई और कहा कि हमारे यहां राष्ट्रगान नहीं गाया जाता है, 'सारे जहां से अच्छा' गाएंगे सभी लोग। इस पूरी घटना का विडियो खूब वायरल हुआ है।

बता दें कि महाराजगंज के कोल्हुई थाना क्षेत्र के एक मदरसे में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर बुधवार सुबह तिरंगा तो फहराया गया, लेकिन ध्वजारोहण के तुरंत बाद होने वाले राष्ट्रगान को रोक दिया गया। इस राष्ट्रगान को किसी और ने नहीं बल्कि उसी मदरसे के एक मौलाना ने रोक दिया।

हालांकि वहां मौजूद शिक्षक राष्ट्रगान गाने के लिए जोर देते रहे, लेकिन इस तथाकथित मौलाना ने इस्लाम और मुसलमान की दुहाई देते हुए न सिर्फ जबरन राष्ट्रगान गाने से रोका बल्कि बच्चों को भी वहां से हटाने पर उतारू हो गया।

वहां मौजूद लोगों में मौलाना के प्रति नाराजगी साफ दिखाई दे रही थी, लेकिन मदरसे में उसकी तूती बोलती है इसलिए वो राष्ट्रगान रोकने में कामयाब रहा।

जहां एक तरफ पूरा देश स्वतंत्रता दिवस को शानदार तरीके से मनाने में लगा हुआ था, वहीं महाराजगंज के एक मदरसे अरबिया अहले सुन्नत अनवारे तैबा गर्ल्स कॉलेज बड़गो में हुए वाकये ने सबको चौंका दिया। कोल्हुई थाना क्षेत्र के एक मदरसे में झंडारोहण के बाद छात्रों को राष्ट्रगान न गाने का फरमान एक मौलवी ने जारी कर दिया, जिसके बाद मौके पर मौजूद एक अध्यापक ने विरोध किया तो मौलवी ने सारे जहां से अच्छा गाने को कहा।

इसके बाद वह इस्लाम और मुसलमान होने की बात करने लगा। राष्ट्रगान नहीं कराए जाने का यह वीडियो पूरे इलाके में तेजी से वायरल होने लगा।

महाराजगंज पुलिस के एएसपी आशुतोष शुक्ला ने बुधवार रात जारी एक बयान में कहा था, 'प्रकरण हमारे संज्ञान में आया है। डीएम ने अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी और बीएसए को जांच दी है। अभी तक की जांच में सामने आया है कि राष्ट्रगान बाद में हुआ था, लेकिन अगर कोई दोषी पाया जाता है तो न्यायसंगत कार्रवाई होगी।'

इसे भी पढ़ें-: सानिया मिर्जा ने बताया, पहली बार कब खुद को आजाद महसूस किया

इस बारे में बात करने पर उन्होंने मीडिया से बताया, 'वीडियो में जो लोग मौलवी के रवैये का विरोध कर रहे हैं, उन्होंने ही बताया था कि राष्ट्रगान बाद में हुआ था। हालांकि पुलिस ने बुधवार रात ही केस दर्ज कर लिया है। मुख्य आरोपी का नाम जुनैद है। जुनैद समेत दो अन्य को गिरफ्तार किया गया है। उन पर 124A, 153B आईपीसी, राष्ट्रीय गौरव अपमान रोकथाम अधिनियम की धारा 2 और 3, धारा 7 सीएलए और धारा 7 और 67 आईटी ऐक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।'


कमेंट करें