राजनीति

नहीं चलेगा बुआ-भतीजावाद! सम्मानजनक सीटें मिली तभी होगा गठबंधन: मायावती

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1725
| सितंबर 16 , 2018 , 21:24 IST

लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मात देने के लिए बीएसपी मुखिया मायावती ने एक बार गठबंधन की वकालत की है। लेकिन इसके लिए माया ने कुछ शर्ते भी रखी है। 2019 में बीजेपी को सत्ता में आने से रोकने के लिए यूपी में संभावित महागठबंधन पर मायावती ने रविवार को बड़ा बयान दिया।

मायावती ने कहा कि गठबंधन तभी होगा जब हमें सम्मानजनक सीटें मिलेंगी, नहीं तो बीएसपी अकेले चुनाव लड़ेगी।

यही नहीं मायावती ने कहा कि उनका किसी के साथ भाई-बहन या फिर बुआ-भतीजे का रिश्ता नहीं है। बता दें कि जेल से रिहा होने के बाद सहारनपुर दंगे के आरोपी रावण ने मायावती की खुलकर तारीफ की थी। मायावती को बुआ समान बताते हुए रावण ने अपने समर्थकों से बीजेपी को उखाड़ फेंकने की अपील की है।

गठबंधन के लिए शर्त-:

बीजेपी के खिलाफ यूपी में गठबंधन को लेकर मायावती ने कहा कि हम किसी भी जगह और किसी भी चुनाव में गठबंधन के लिए तैयार हैं लेकिन यह तभी होगा जब हमें सम्मानजनक सीटें मिलेंगी। ऐसा नहीं हुआ तो बीएसपी अकेले चुनाव लड़ेगी।’ हालांकि इस दौरान मायावती ने बीजेपी को रोकने के लिए गठबंधन को अहम भी बताया। माना जा रहा है कि मायावती ने एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव पर सीटों के बंटवारे से पहले दबाव बनाने की रणनीति के तहत यह बयान दिया है।

बीजेपी पर बरसीं माया-:

वहीं मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान रविवार को बीजेपी जमकर हमला बोला। महंगाई के मुद्दे पर केंद्र सरकार को घेरते हुए मायावती ने कहा कि बीजेपी महंगाई और बेरोजगारी पर लगाम लगाने में विफल रही है। उन्होंने नोटबंदी का भी जिक्र किया और कहा कि नोटबंदी राष्ट्रीय त्रासदी के रूप में सामने है। वहीं, राफेल घोटाले को लेकर भी मायावती बीजेपी के खिलाफ आक्रमक रहीं। यही नहीं मायावती ने बीजेपी पर अटलजी के मौत पर सियासत करने का भी आरोप लगाया।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव से पहले एक बार फिर महागठबंधन को लेकर कयासों का दौर तेज है और माना जा रहा है कि यूपी में बीएसपी, एसपी के बीच गठबंधन भी हो सकता है।


कमेंट करें