नेशनल

दिल्ली: अपनी मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरे मजदूर और किसान

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1485
| सितंबर 5 , 2018 , 12:00 IST

अपनी मांगों को लेकर देश भर के किसान और मजदूर आज दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे हैं। मजदूर और किसान महंगाई, न्यूनतम भत्ता, कर्जमाफी समेत कई बड़े मुद्दों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। बुधवार सुबह किसानों का ये मार्च रामलीला मैदान से शुरू होकर संसद मार्ग पहुंचा। खबर है कि इस रैली में देशभर से 4 लाख से ज्‍यादा किसान-मजदूर जुटेंगे। इस रैली का आयोजन CITU, AIKS और AIAWU द्वारा किया गया है।

इस प्रदर्शन की अगुवाई ऑल इंडिया किसान महासभा के द्वारा किया जा रहा है। वामपंथी संगठन अखिल भारतीय किसान महासभा और सीटू के नेतृत्व में लाखों की संख्या में किसान और मजदूर दिल्ली के रामलीला मैदान पर मजदूर किसान संघर्ष रैली में जुटेंगे। वामपंथी दल सीपीआईएम के महासचिव सीताराम येचुरी भी इस मार्च में हिस्सा ले सकते हैं।

किसानों के मार्च के कारण दिल्ली की कई सड़कों पर जाम की स्थिति है, इसके अलावा कुछ रास्तों पर ना जाने की सलाह दी जा रही है। मार्च में मौजूद किसानों ने कहा है कि चुनाव तो आते-जाते हैं, लेकिन सरकार की नीतियां गलत हैं। सरकार को किसानों, मजदूरों और गरीबों को लेकर अपनी नीतियों को बदलना चाहिए।

मजदूरों और किसानों की प्रमुख मांगें

इनकी मांग है कि सभी मजदूरों के लिए न्यूनतम मजदूरी भत्ता 18000 रुपया प्रतिमाह तय किया जाए।

खाद्य वितरण प्रणाली की व्यवस्था को ठीक किया जाए साथ ही बढ़ रही कीमतों पर लगाम लगाई जाए।

मजदूरों के लिए बने कानून में मजदूर विरोधी बदलाव ना किए जाएं, किसानों के लिए स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशें लागू हों, गरीब खेती मजदूर और किसानों का कर्ज माफ हो।

खेती में लगे मजदूरों के लिए एक बेहतर कानून बने। हर ग्रामीण इलाके में मनरेगा ठीक तरीके से लागू हो, खाद्य सुरक्षा, स्वास्थ्य, शिक्षा और घर की सुविधा मिले।

मजदूरों को ठेकेदारी प्रथा से राहत मिले। जमीन अधिग्रहण के नाम पर किसानों से जबरन उनकी जमीन न छीनी जाए और प्राकृतिक आपदा से पीड़ित गरीबों को उचित राहत मिले।


कमेंट करें