राजनीति

महबूबा का बेतुका बयान, कहा- सुरक्षाबल और आतंकी दोनों एक दूसरे को कर रहे हैं प्रताड़ित

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1627
| अगस्त 31 , 2018 , 15:35 IST

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के द्वारा पुलिसकर्मियों और उनके परिजनों को अगवा करने पर घाटी का माहौल पहले से ही खराब है ऊपर से महबूबा मुफ्ती ने एक आपत्तिजनक ट्वीट कर राजनीक माहौल को और भी गर्म कर दिया है। महबूबा मुफ्ती की तरफ से आतंकियों और सुरक्षाबलों को एक ही कतार में रख की गई इस तुलना पर बड़े राजनीतिक विवाद के भड़कने की आशंका है।

शुक्रवार को कश्मीर में आतंकी संगठनों ने पुलिसकर्मियों के परिवार पर निशाना साधा है। बीते दो दिनों के अंदर अज्ञात आतंकियों के समूह ने कश्मीर घाटी के अलग-अलग जिलों से 7 लोगों को अगवा किया है। महबूबा मुफ्ती का बयान इसी संदर्भ में सामने आया है।

महबूबा ने लिखा, 'आतंकी और फोर्स एक दूसरे के परिवारवालों को प्रताड़ित कर रही हैं। यह निंदनीय है और हमारी स्थिति के स्तर के और नीचे गिरने का प्रतीक है। 'महबूबा ने लिखा कि परिवारों को उस बाद के लिए पीड़ित नहीं होना चाहिए जिनपर उनका नहीं के बराबर नियंत्रण है। नैशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने भी इस घटना की निंदा की है।

उमर ने एक तरह से अलगाववादियों पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है कि लोगों के अपहरण घाटी की स्थिति के चिंताजनक होने का सबूत हैं। उमर ने कहा कि जो लोग सुरक्षाबलों के कथित कार्रवायों पर काफी शोर मचाते हैं, वे इन अपहरणों पर खामोश हैं। उधर, आर्टिकल 35A के मुद्दे पर घाटी में तनाव बना हुआ है।

इसे भी पढ़ें-: IRCTC घोटाला: राबड़ी-तेजस्वी को बड़ी राहत, दोनों को CBI कोर्ट ने दी जमानत

हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने आर्टिकल 35A की वैधता को चुनौती देने वाली याचिका पर अगले साल 19 जनवरी तक सुनवाई टाल दी है। केंद्र सरकार की तरफ से सुप्रीम कोर्ट से सुनवाई टालने मांग की गई थी। केंद्र ने सर्वोच्च अदालत को बताया था कि जम्मू कश्मीर में स्थानीय निकाय चुनाव होने हैं। ऐसे में सुरक्षाबल चुनाव की व्यवस्था में लगे हुए हैं।


कमेंट करें