नेशनल

भारत-इजरायल के बीच डिफेंस समेत 9 करार, 3181 करोड़ की एंटी मिसाइल डील

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
270
| जनवरी 15 , 2018 , 14:33 IST

इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू और नरेंद्र मोदी की सोमवार को हैदराबाद हाउस में मुलाकात हुई। भारत-इजरायल में डिफेंस समेत 9 करार हुए।। इससे पहले नेतन्याहू का राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया गया।

नेतन्याहू ने कहा कि ये भारत-इजरायल के रिश्तों में नए युग का सवेरा है। नेतन्याहू और उनकी पत्नी सारा ने राजघाट जाकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि भी दी। नेतन्याहू रविवार को 6 दिन के दौरे पर नई दिल्ली पहुंचे थे। दोनों नेताओं ने तीन मूर्ति हाइफा चौक पर शहीदों के श्रद्धांजलि दी। भारत-इजरायल की दोस्ती को समर्पित चौक के नए नाम में हाइफा (इजरायली शहर) शब्द जोड़ा गया। इसके बाद मोदी ने नेतन्याहू के सम्मान में डिनर दिया।

15 साल बाद भारत आने वाले पहले पीएम

यह 15 साल में किसी इजरायली पीएम का दौरा है। इससे पहले 2003 में पीएम एरियल शेरॉन भारत आए थे। नेतन्याहू का यह दौरा भारत-इजरायल की दोस्ती के लिहाज से अहम है, क्योंकि यूएन में भारत ने येरूशलम को राजधानी घोषित करने के खिलाफ वोट किया था।

3181 करोड़ रु. की एंटी मिसाइल डील

कुछ दिन पहले भारत ने इजरायल के साथ 3181 करोड़ रु. की एंटी टैंक स्पाइक मिसाइल डील और रॉफेल वेपंस डील निरस्त कर दी थी। हालांकि अब कहा जा रहा है नेतन्याहू, मोदी के साथ इस डील को दोबारा कन्फर्म कर सकते हैं। इसके तहत इजरायल, भारत को 8000 एंटी टैंक स्पाइक मिसाइल देगा। इस दौरे पर भारत, इजरायल के बीच 445 करोड़ रु. के जमीन से हवा में मार करने वाली 131 मिसाइलों समेत अन्य समझौते होंगे।

भारत को पाक सीमा पर चौकसी के लिए स्मार्ट बाड़ देगा

भारत ने पठानकोट हमले के बाद पाकिस्तान सीमा पर स्मार्ट बाड़ लगाने का फैसला किया था। इस स्मार्ट बाड़ की टेक्नोलॉजी इजरायल, भारत को दे रहा है। स्मार्ट बाड़ इजरायल ने अरब देशों के साथ लगती अपनी 200 किमी की सीमा पर लगा रखी है। वह हवा में खतरे की वॉर्निंग एंड कंट्रोल करने वाला सिस्टम अवाक्स दे रहा है।

भारत-इजरायल रिश्तों के 25 साल

2017 में भारत-इजरायल की दोस्ती को 25 साल पूरे हो गए। दोनों देशों ने इसे सेलिब्रेट किया। पीएम मोदी इजरायल गए। वे इजरायल जाने वाले पहले पीएम थे। नेतन्याहू का यह दौरा भी इस दोस्ती को केंद्र में रखकर हो रहा है। यह दोस्ती 1999 में परवान चढ़ी, जब करगिल जंग के दौरान इजरायल ने भारत को सिर्फ एक बार कहने पर लेजर गाइडेड बम और मानवरहित प्लेन मुहैया कराया था। बड़ी मात्रा में गोला-बारूद भी दिया।

भारत हर साल इजरायल से 6400 करोड़ के हथियार लेता है

दोनों देशों के रक्षा, कृषि, साइबर सिक्युरिटी, मेडिसिन, सिनेमा, जल, रक्षा, फूड इंडस्ट्री, साइंस एंड टेक्नोलॉजी, व्यापार आदि क्षेत्रों में नए समझौते हो सकते हैं। भारत और इजरायल के बीच हर साल करीब 25,452 करोड़ रु. का कारोबार होता है। भारत हर साल करीब 6400 करोड़ रु. के हथियार इजरायल से खरीदता है।

क्या बोले नेतन्याहू

मजबूत रिश्ते की शुरुआत मोदी के इजरायल दौरे से हुई थी

सोमवार को नेतन्याहू ने कहा कि दोनों के मजबूत रिश्तों की शुरुआत मोदी के ऐतिहासिक इजरायल दौरे से हुई थी। उस यात्रा ने जोश भर दिया। ये मेरी विजिट तक जारी है। मैं, मेरी पत्नी और इजरायल के लोगों की तरफ से शुक्रिया अदा करता हूं। दोनों देशों के बीच पार्टनरशिप से लोगों की तरक्की और शांति आएगी। भारत और इजरायल के बीच दोस्ती का ये रिश्ता नए युग की शुरुआत है।"

शादियां तो स्वर्ग में तय होती हैं

नेतन्याहू ने कहा कि हम भारत के यूएन में हमारे खिलाफ दिए गए वोट से नाखुश हैं लेकिन एक वोट से ही हमारे रिश्ते तय नहीं होते। बता दें कि अमेरिका ने येरूशलम को इजरायल की राजधानी घोषित किया था। यूएन में भारत समेत 127 देशों ने इसका विरोध किया था।

देखने वाली बात ये है कि दोनों देशों, दोनों देशों के लोगों और नेताओं के बीच रिश्ते हैं। भारत-इजरायल की पार्टनरशिप को आप कह सकते हैं कि शादियां तो स्वर्ग में तय होती हैं लेकिन रिश्ते पर मुहर धरती पर लगती है।
मोदी एक महान नेता हैं। वे अपने लोगों का भविष्य सुधारने के लिए बहुत उतावले हैं। नेतन्याहू ने ये भी कहा कि दोनों देशों के कोऑपरेशन से टेक्नोलॉजी, एग्रीकल्चर और दूसरे क्षेत्रों में रिश्ते मजबूत होंगे।


कमेंट करें