नेशनल

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले पत्रकार डॉ. हरीश चन्द्र बर्णवाल की नई रचना 'मोदी नीति'

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2067
| मार्च 10 , 2019 , 14:30 IST

प्रसिद्ध लेखक और वरिष्ठ पत्रकार डॉ. हरीश चन्द्र बर्णवाल ने 'मोदी मंत्र' और 'मोदी सूत्र' के बाद एक नई रचना 'मोदी नीति' नामक एक पुस्तक की रचना की है जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उपर लिखी गई डॉ. हरीश चन्द्र बर्णवाल जी की तीसरी पुस्तक है।

2019 के आम चुनाव से पहले आई इस पुस्तक में मोदी सरकार की नीतियों को बताया गया है जिनका देश की सभ्यता, संस्कृति और समाज पर प्रभाव पड़ा है। इसके साथ ही इन नीतियों के दूरगामी परिणामों को सूचीबद्ध तरीके से रखा गया है।

1

इस नई पुस्तक ‘मोदी नीति’ की खासियत यह है कि इसमें सहज तरीके से आंकड़ों के माध्मय से संदर्भों को विश्लेषित करने का प्रयास किया गया है। मोदी नीति’ के मुताबिक, "जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ये आंकड़े गिनाते हैं कि किस प्रकार जो कार्य देश में छह दशकों में भी नहीं हुए, उसे उन्होंने 4-5 वर्षों के कार्यकाल में कर दिए, तो ये जानना जरूरी हो जाता है कि आखिर उन्हीं लोगों, साधनों और संसाधनों के रहते कार्य संस्कृति में इतना बड़ा बदलाव कैसे आ गया।"

मोदी नीति’ पुस्तक में नौ अध्याय हैं. इसमें लोक संस्कृति से लेकर पौराणिक ग्रंथों तक, योग से लेकर स्वास्थ्य क्रांति तक, पत्रकारिता से लेकर पर्यावरण तक और भाषाई एकजुटता से लेकर न्यू इंडिया के संकल्प तक के विषयों को लेखक ने अलग-अलग तरीके से विश्लेषित किया है।

पुस्तक के नौवें अध्याय 'सार्थक परिवर्तन के चार साल' को लेखक ने वरिष्ठ पत्रकार और चिंतक रामबहादुर राय के साथ मिलकर लिखा है। इस अध्याय में भारत के परिवेश में हो रहे नीतिगत बदलाव की ओर ध्यान आकृष्ट कराया गया है।

हार्ड बाउंड संस्करण की कीमत 400 रुपए है तो पेपरबैक संस्करण की कीमत 200 रुपए है. डॉ. हरीश चंद्र बर्णवाल की यह छठी पुस्तक है। इससे पहले उनकी कहानियों की पुस्तक वाणी प्रकाशन से, जबकि 'टेलीविजन की भाषा' राधाकृष्ण प्रकाशन से प्रकाशित हो चुकी है। वह भारतेंदु हरिश्चन्द्र पुरस्कार और हिंदी अकादमी पुरस्कार समेत कई पुरस्कारों से सम्मानित हो चुके हैं।


कमेंट करें