राजनीति

चिदंबरम पर मोदी का वार, कांग्रेस कश्मीर की आजादी मांगने वालों का साथ दे रही है

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
634
| अक्टूबर 29 , 2017 , 16:09 IST

कश्मीर की आजादी पर दिए पी. चिदंबरम के बयान को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। रविवार को पीएम ने कर्नाटक की रैली में कहा कि कांग्रेस नेता क्यों कश्मीर की आजादी चाहने वालों के सुर में सुर मिला रहे हैं। ये हमारे बहादुर सैनिकों का अपमान है। उन्हें ऐसा कहने में शर्म तक नहीं आ रही। कांग्रेस को इस बयान का हर पल जवाब देना पड़ेगा। इतनी बार हार कर भी सबक नहीं लिया। इससे पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और अरुण जेटली भी चिदंबरम के बयान की निंदा कर चुके हैं।

बता दें कि कांग्रेस नेता ने शनिवार को गुजरात के राजकोट के प्रोग्राम में कहा- ''जब जम्मू-कश्मीर के लोग जब आजादी के बारे में बात करते हैं तो वास्तव में उनकी चाहत ऑटोनॉमी (स्वायत्तता) होती है।

कांग्रेस को शर्म तक नहीं आती

मोदी ने कहा, "कांग्रेस नेता के कश्मीर पर दिए बयान से ये साफ है कि सेना की बहादुरी और सर्जिकल स्ट्राइक पर उनकी पार्टी क्या सोचती है। कांग्रेस लीडर उन लोगों की आवाज को क्यों उठा रहे हैं, जो कश्मीर में आजादी चाहते हैं। इन्हें ऐसा कहने में शर्म तक नहीं आ रही। क्या ऐसे लोग देश के वीरों के बलिदान पर राजनीति करने पर तुले हुए हैं, क्या इससे देश का भला हो सकता है? कांग्रेस को इस बयान का हर पल जवाब देना पड़ेगा। हम देश की एकता और अखंडता के साथ समझौता नहीं करेंगे और कभी होने भी नहीं देंगे।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस बड़ी बेशर्मी के साथ उस भाषा का इस्तेमाल कर रही है, जो कश्मीर की धरती पर अलगाववादी करते हैं और जिसे पाकिस्तान में बोला जाता है। जो कल तक सत्ता में रहते थे आज यूटर्न ले लिया। कश्मीर की आजादी की बात करने लगे हैं।

कांग्रेस ने इतनी हार कर भी सबक नहीं लिया

पीएम ने आगे कहा, ''लगातार हार के बाद लगा कि कांग्रेस में कुछ समझदार लोग उसे सही रास्ते पर लाने की कोशिश करेंगे। लेकिन एक के बाद एक घटनाएं, गैर जिम्मेदाराना व्यवहार देख रहा हूं। लगता है कि कांग्रेस ने तय कर लिया है कि हमें सुधरना नहीं है। वरना हार से लोग सीखते हैं, गलतियों से सीखते हैं। लेकिन इनका अहंकार 7वें आसमान पर है। जनता से कट चुके हैं और आशाओं-आकांक्षाओं से कट चुके हैं।

डोकलाम मुद्दे पर कांग्रेस ने झूठी खबरें फैलाईं

मोदी ने भारत-चीन के बीच सिक्किम में हुए सीमा विवाद पर कहा, ''भारत की डिप्लोमैटिक ताकत, संयम और धैर्य डोकलाम में देखा। चीन कितना ही शक्तिशाली क्यों ना हो, लेकिन धैर्य की कसौटी पर भारत खरा उतरा। आज भारत की सामर्थ्य को पूरी दुनिया देख रही है। लेकिन, कांग्रेस के लोग आए दिन डोकलाम के नाम पर झूठी खबरें प्रचारित कर रहे हैं।''


कमेंट करें