नेशनल

मुंबई में छात्रों का प्रदर्शन खत्म, CM फडणवीस ने कहा -नियम में कोई बदलाव नहीं

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
1045
| मार्च 20 , 2018 , 15:33 IST

मुंबई रेलवे में नौकरी की मांग को लेकर अप्रैंटिस छात्रों का रेल रोक आंदोनल खत्म हो गया। ट्रेनों की पटरियों को खाली करवाया जा रहा है। प्रदर्शन की वजह से करीब 4 घंटे रेलवे का यातायात प्रभावित हुआ। दादर से माटुंगा रेल सेवा बहाल कर दी गई है।

महाराष्ट्र के सीएम देवेन्द्र फडणवीस ने बयान जारी करते हुए कहा कि मैं अधिकारियों के साथ लगातार संपर्क में था। नियम में कोई बदलाव नहीं किया गया है। अप्रैंटिस के लिए 20% सीटें आरक्षित हैं लेकिन वे अधिक मांग कर रहे हैं। आंदोलनकारियों के पथराव शुरू करने के बाद लाठीचार्ज किया, जिसमें कोई भी घायल नहीं हुआ।

रेल मंत्री पीयूष गोयल का कहना है कि रेलवे में बड़ी तादाद में भर्ती किया जाना है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार भारतीय रेलवे ने रिक्रूटमेंट पॉलिसी बनाई है जो पक्षपात रहित और पारदर्शी है। फिलहाल अब धीरे-धीरे ट्रेनों का परिचालन शुरू किया जा रहा है। छात्रों के आंदोलन की वजह से लोकल ट्रेनों का परिचालन लगभग चार घंटे तक बाधित रहा था। जहां पर छात्र आंदोलन कर रहे थे वहां पर एक ट्रैक को खाली करा दिया गया है। 

रेलवे पटरियों पर छात्रों के बैठने से ट्रेनों का आवागमन बाधित हो गया था और आम-जनजीवन भी प्रभावित हो गया। मुंबई में लोकल ट्रेन यहां की जिंदगी की रफ्तार है और यहां रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शनकारी छात्रों के बैठ जाने के करण लोकल ट्रेन की रफ्तार थम गई थी।

सैकड़ों की संख्या में ये छात्र रेलवे की सरकारी नौकरी के लिए आंदोलन कर रहे थे। छात्रों को रेल पटरियों से हटाने के लिए पुलिस मौके पर पहुंची। 

पुलिस का कहना है कि जब छात्रों को जबरन हटाने की कोशिश की गई तो छात्र गुस्सा हो गए और पत्थरबाजी की जाने लगी। जानकारी के मुताबिक प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने पुलिस पर पत्थरबाजी भी की है।

बता दें कि इन छात्रों की मांग है कि इन्हें रेलवे में सरकारी नौकरी दी जाए। बताया जा रहा है कि ये अप्रेंटिस स्टूडेंट सालों तक काम कर चुके हैं लेकिन इन्हें नौकरी नहीं मिल पा रही है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें