ख़ास रिपोर्ट

स्मार्ट हुई हज यात्रा, तीर्थ यात्रियों के लिए बने मोबाइल होटल कैप्सूल

icon कुलदीप सिंह | 0
3295
| अगस्त 17 , 2018 , 20:45 IST

इस हज यात्रा सीज़न पर तीर्थयात्री नवीनतम मोबाइल होटल कैप्सूल का प्रयोग करने में सक्षम होंगे। सऊदी के एक चैरिटेबल संस्था ने इसकी घोषणा की है। दरअसल लाखों की संख्या में हर साल हज़ करने आने वाले श्रद्धालुओं के लिए सऊदी अरब ने छोटे छोटे रिलेक्स रुम (कैप्सूल) तैयार किए हैं। खास बात ये है कि इन कैप्सूल के भीतर आप काम भी कर सकते हैं और आराम भी। 

तस्वीरें साभार - EPA 

4F25BBB500000578-6070593-image-a-45_1534502108857

इस कैप्सूल होटल रूम को दो इकाइयों की ऊंचाई के साथ-साथ एक-दूसरे के ऊपर या एक तरफ रखा जा सकता है। जब कैप्सूल को तीन-चरणीय सीढ़ियों पर रखा जाता है तो सबसे ऊपर के कैप्सूल रूम तक पहुंचा जा सकता है। कैप्सूल को अंत में एक स्लाइडिंग दरवाजे के साथ लगाया जाता है जिसे गोपनीयता सुनिश्चित करने के लिए प्रत्येक उपयोगकर्ता के लिए चुंबकीय कार्ड द्वारा खोला जा सकता है।

तस्वीरें साभार - EPA 

4F27B56100000578-6070593-image-a-43_1534501963005

कैसे काम करता है रिलेक्स रुम (कैप्सूल) 

हजयात्रियों के लिए खास तौर पर बनाए गए ये कैप्सूल केवल आराम के लिए ही नहीं है, इन्हें इमरजेंसी परिस्थितियों में बेहतर तरीके से काम करने के लिए भी डिजाइन किया गया है। 

मान लीजिए अगर ब्लैकआउट होता है तो इसका दरवाजा स्वचालित रूप से खुल जाएगा। अलग शौचालयों को अलग-अलग सेवाओं के साथ प्रदान किया जाता है ताकि एक ही समय में पानी के बेसिन या शावर का उपयोग किया जा सके। कैप्सूल में सामान भंडारण के लिए बाहरी अलमारियाँ भी शामिल हैं।

तस्वीरें साभार - EPA 

4F25BC8300000578-6070593-image-a-46_1534502161766

हाजी और मुतामर गिफ्ट चैरिटेबल एसोसिएशन के निदेशक मंसूर अल-आमेर ने कहा कि होटल कैप्सूल भीड़, ट्रेन स्टेशन, राजमार्ग आराम घरों और पवित्र स्थलों जैसे भीड़ वाले स्थानों में आदर्श कम लागत वाला समाधान प्रदान करता है। यह एक ऐसी जगह प्रदान करता है जिसमें तीर्थयात्रियों अपने कपड़े बदल सकते हैं, स्नान और सामान रख सकते हैं। चयनित स्थानों में 24 कैप्सूल संचालित करके कैप्सूल रूम का परीक्षण किया जाना है।

हज और उमरा रिसर्च के लिए दो पवित्र मस्जिद संस्थान का कस्टोडियन इन कैप्सूल की सफलता और व्यवहार्यता का निरीक्षण करने के लिए आवश्यक अध्ययन करेगा। इस कैप्सूल को मीना में तैनात किए जाएगा, जो खोए और बुजुर्ग तीर्थयात्रियों को ध्यान में रखकर बनाए गए हैं। 

1278901-17882752

हज के अंत के बाद अध्ययन के परिणाम घोषित किए जाएंगे

इस वर्ष रमजान के पिछले 10 दिनों में कैप्सूल को पहले ग्रैंड मस्जिद के चौराहे के पास तैनात किया गया था। उसके बाद पता चला कि उसमें कुछ खामियां हैं जिन्हे बाद में दूर कर लिया गया। 

आपको बता दें इन कैप्सूल के आरामदायक कमरे 220 सेमी लंबे, 120 सेमी चौड़े और 120 सेमी ऊंचे हैं।  इसका निर्माण प्लास्टिक और शीशे के रेशे से हुआ हैं। इन्हें पवित्र स्थलों, तीर्थयात्रियों के आवास, आवास परिसरों, और श्रमिकों और प्रतिनिधियों के आवास पर तैनात किया जा सकता है।

वीडियो में देखें कैसे काम करता है मोबाइल होटल कैप्सूल 


author
कुलदीप सिंह

Executive Editor - News World India. Follow me on twitter - @KuldeepSingBais

कमेंट करें