नेशनल

नीतीश की मंत्री मंजू वर्मा का इस्तीफा, पति पर मुज़फ़्फ़रपुर कांड में शामिल होने का आरोप

अमितेष युवराज सिंह | न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
4317
| अगस्त 8 , 2018 , 21:38 IST

मुजफ्फरपुर कांड में बिहार की मंत्री मंजू वर्मा के पति का नाम आने के बाद मंजू वर्मा ने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने नीतीश कुमार से मुलाकात के बाद इस्तीफा दिया है। मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा पर आरोप है कि वो मुजफ्फरपुर स्थित बालिका गृह में लगातार जाते थे और बालिका गृह के संचालक ब्रजेश ठाकुर से उनके अच्छे रिश्ते थे।

मुज़फ़्फ़रपुर बालिका गृह कांड में जैसे-जैसे सीबीआई की जांच आगे बढ़ रही है, मामले के मास्टरमाइंड ब्रजेश ठाकुर के बारे में नए-नए खुलासे हो रहे हैं। सीबीआई जांच में अब सामने आया है कि बालिका गृह के संचालक ब्रजेश ठाकुर और बिहार सरकार की मंत्री मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा के बीच खूब बातें होती थी। सीबीआई ने ब्रजेश ठाकुर के तीन मोबाइल नंबरों की जांच की जिसमें ये बात निकलकर सामने आई कि जनवरी महीने से लेकर मई तक ब्रजेश ठाकुर, चंद्रशेखर वर्मा के लगातार संपर्क में था। कॉल डिटेल से पता चला है कि इस दौरान ब्रजेश ने चंद्रशेखर वर्मा से 17 बार फोन पर बातचीत की।

सीबीआई जांच में ये बात भी सामने आई है कि ब्रजेश और चंद्रशेखर वर्मा में दोस्ती थी। इस बार का खुलासा ब्रजेश ठाकुर के ड्राइवर ने की है। जांच में पता चला है कि ब्रजेश और चंद्रशेकर वर्मा पटना से दिल्ली साथ-साथ जाते थे। ब्रजेश के ड्राइवर राजू से सीबीआई से एक घंटे तक पूछताछ की। राजू ने स्वीकार किया कि मंजू वर्मा के पति का ब्रजेश ठाकुर से लगातार मिलना-जुलना होता था। राजू ने खुलासा किया कि 2 जून को गिरफ्तारी के बाद ब्रजेश ने अपना फोन किसी विश्वासपात्र को दे दिया था।

Manju_1532608030

(मंत्री मंजू वर्मा और उनके पति- फाइल फोटो)

चंद्रशेखर वर्मा से बातचीत होने पर मंत्री मंजू वर्मा ने सफाई दी कि हम राजनीतिक जीवन में हैं, लोगों के फोन आते रहते हैं। हमने पहले भी स्वीकार किया है कि ब्रजेश से फोन पर कई बार बात हुई होगी। मंजू वर्मा ने कहा कि मेरी जगह पर मेरे पति भी फोन रिसीव करते थे। वैसे मेरे पति भी राजनीति से जुड़े हुए हैं। किसी का फोन आने पर उससे बात करना कोई अपराध नहीं है। वे और उनके पति किसी भी जांच के लिए तैयार हैं।

उधर, कोर्ट में पेशी के दौरान ब्रजेश ठाकुर के मुंह पर कालिख फेंकी गई। कालिख फेंकने के आरोप दो महिलाओं पर लगा है। इसमें से एक महिला को उसी वक्त पकड़ लिया गया। महिलाओं ने ये काम विरोध स्वरुप किया है।


कमेंट करें