नेशनल

केदारनाथ में बोले मोदी- पहाड़ का पानी और जवानी, पहाड़ के काम आनी चाहिए

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
1505
| अक्टूबर 20 , 2017 , 13:49 IST

धानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को हिमालय के प्रसिद्ध केदारनाथ मंदिर के कपाट अगले 6 महीने तक बंद होने से पहले भगवान शिव के दर्शन किए। मोदी की इस साल प्रसिद्ध मंदिर की यह दूसरी यात्रा है। इस मौके पर मोदी के साथ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत और राज्य एवं केंद्र सरकार के अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।
Pm3
प्रसिद्ध भगवान शिव मंदिर के पुजारियों और स्थानीय लोगों ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया। मंदिर को पीले फूलों से सजाया गया था। 

Pm1

दीपावली के एक दिन बाद, प्रधानमंत्री मंदिर के गर्भगृह में बैठे और पुजारियों के साथ प्रार्थना की और भगवान शिव का रूद्राभिषेक किया।

Pm2

इस मौके पर पीएम मोदी ने पांच योजनाओं का शिलान्यास किया। इसके बाद पीएन ने अपने भाषण की शुरुआत जय-जय केदार के उद्घोष से की। मोदी ने कहा कि एक समय था कि मैं यहां पर ही रहता था, लेकिन शायद प्रभु की इच्छा नहीं थी कि मैं हमेशा यहां पर ही रहूं. आज एक बार फिर बाबा ने मुझे अपनी शरण में बुलाया है।


पीएम मोदी के भाषण के मुख्य अंश

- केदारनाथ में 24 घंटे बिजली और पानी मिलेगा।

- केदारनगरी को आधुनिक बनाया जाएगा।

- केदारनगरी में पुरोहितों के घर थ्री इन वन होंगे।

- मंदाकिनी और सरस्वती के संगम पर घाट बनेगा।

- केदारनाथ के पुनर्निर्माण में धन की कमी नहीं होगी। 

- केदारनाथ मंदिर मार्ग को चौड़ा किया जाएगा।

- हर्बल मेडिसिन के लिए हिमालय प्रकृति का उपहार है।

- हम प्रकृति की रक्षा करेंगे तो प्रकृति हमारी रक्षा करेगी।

- उत्तराखंड के हजारों घरों में हमें बिजली पहुंचानी है।

 बात दें कि, साल 2013 में आई बाढ़ और भूस्खलन ने केदारनाथ में व्यापक तबाही मचाई थी। इस आपदा में सैकड़ों लोगों की मौत हुई थी। मोदी यहां एक नई 'केदारपुरी' की नींव भी रखेंगे।

देखें वीडियो

केदारनाथ मंदिर में पीएम मोदी ने की पूजा- अर्चना, देखें वीडियो


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें