विज्ञान/टेक्नोलॉजी

NASA को मिली बड़ी कामयाबी, खोजा पृथ्वी से 3 गुना बड़ा ग्रह

विवेक यादव | 0
3206
| जनवरी 9 , 2019 , 18:11 IST

धरती के अलावा किसी अन्य ग्रह पर जीवन पनपने की संभावनाएं तलाश रहे वैज्ञानिकों को बड़ी सफलता हाथ लही है। नासा के ट्रांजिटिंग एक्सोप्लैनेट सर्वे सैटेलाइट (TESS) ने सौरमंडल के बाहर एक नए ग्रह की खोज की है। TESS द्वारा खोजा गया हय तीसरा ग्रह है।

इन नए ग्रह को HD 21749b नाम दिया गया है

इस नए ग्रहक को HD 21749b नाम दिया गया है और नासा का यह नया टेलिस्कोप है। यह पृथ्वी से 53 प्राकश वर्ष की दूरी पर स्थित है। पृथ्वी के इतने नजदीक होने के बावजूद यह काफी ठंडा है और इसका तापमान 300 डिग्री फरेनहाइट है।

हो सकती है जीवन की संभावना

एचडी 21749b एक छोटे तारे की परिक्रमा कर रहा है और इसे एक चक्कर पूरा करने में 36 दिन लगता है। निश्चित तौर पर किसी और ग्रह पर जीवन की संभावनाएं तलाशने में जुटे वैज्ञानिकों के लिए यह बड़ी सफलता है। वैज्ञानिकों के मुताबिक, घने वायुमंडल के चलते इस ग्रह पर जीवन की संभावना हो सकती है।

अबतक का सबसे ठंडा छोटा ग्रह

इस नए ग्रह की खोज करने वाली टीम की मुखिया और MIT के कावली इंस्टीट्यूट फॉर एस्ट्रॉफिजिक्स एंड स्पेस रिसर्च की डायना ड्रैगॉमिर ने इस पर कहा, 'सूर्य जैसे चमकदार तारे का चक्कर कर रहा यह अब तक का सबसे ठंडा छोटा ग्रह है, जिसके बारे में हम अब जानते हैं।'

पृथ्वी की तुलना में तीन गुना बड़ा है यह ग्रह

इसके आगे उन्होंने कहा कि वैज्ञानिकों द्वारा छोटा कहे जाने के बावजूद, यह पृथ्वी की तुलना में बहुत बड़ा है। पृथ्नी की तुलना में नया एचडी 21749बी तीन गुना बड़ा है। अपने साइज के चलते यह सब-नेप्च्यून कैटिगरी में आता है जिसका मतलब है कि यह TESS द्वारा खोजा गया लगभग पृथ्वी के साइज वाला पहला ग्रह होगा।

TESS मिशन तीन महीने में 3 ग्रह, 6 सुपरनोवा की खोज कर चुका है

नासा का टीईएसएस मिशन तीन महीने में 3 ग्रह और 6 सुपरनोवा की खोज कर चुका है। एचडी 21749बी इसकी ताजा खोज है। यह तीसरा ग्रह है, जिसकी खोज नासा के टीईएसएस ने की है। नासा ने इसे पिछले साल अप्रैल में लांच किया था। अगस्त में इसने पहली तस्वीर भेजी थी। वैज्ञानिकों का अनुमान है कि दो साल के अभियान के दौरान यह करीब 20 हजार बाहरी ग्रहों की खोज करेगा। इसके लांच होने से पहले केवल 3,800 एक्सोप्लैनेट का पता चल पाया था।


कमेंट करें