नेशनल

जानिए क्या है हनुमान जयंती का महत्व और शुभ मुहूर्त (जयंती विशेष)

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1658
| मार्च 31 , 2018 , 10:56 IST

आज पूरे देश भर में हनुमान जयंती मनाई जा रही है। हनुमान जी को भगवान शिव का 11वां अवतार माना जाता है। साथ ही इन्हें बुद्धि और शक्ति का देवता भी माना जाता है। हिन्‍दू कैलेंडर के अनुसार चैत्र पूर्णिमा के दिन हनुमान जयंती मनाई जाती है। इसी दिन भगवान हनुमान ने माता अंजनी की कोख से जन्‍म लिया था।

 

कैसे मनाते हैं हनुमान जयंती

आज के दिन हनुमान जी के भक्‍त पूरे दिन व्रत रखते हैं और हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं। मान्‍यता है कि इस दिन पांच या 11 बार हनुमान चालीसा का पाठ करने से पवन पुत्र हनुमान प्रसन्‍न होकर भक्‍तों पर कृपा बरसाते हैं। इस मौके पर मंदिरों में विशेष पूजा-पाठ का आयोजन होता है। घरों और मंदिरों में भजन-कीर्तन होते हैं। हनुमान जी की मूर्ती पर सिंदूर चढ़ाया जाता है और सुंदर कांड का पाठ करने का भी प्रावधान है। कई जगहों पर आज के दिन मेला भी लगता है।

शुभ मुहूर्त

- 30 मार्च 2018 को शाम 7 बजकर 36 मिनट 38 सेकेंड से पूर्णिमा आरंभ
- 31 मार्च 2018 को शाम 6 बजकर 8 मिनट 29 सेकेंड पर पूर्णिमा समाप्त

पूजा की विधि

- हनुमान जयंती के दिन सुबह-सवेरे उठकर सीता-राम और हनुमान जी को याद करें। 
- स्‍नान करने के बाद ध्‍यान करें और व्रत का संकल्‍प लें।
- इसके बाद स्‍वच्‍छ वस्‍त्र धारण कर पूर्व दिशा में हनुमान जी की प्रतिमा को स्‍थापित करें।  
- पूजा करते समय इस मंत्र का जाप करें: 'ॐ श्री हनुमंते नम:'.
- फिर हनुमान जी को सिंदूर चढ़ाएं। 
- हनुमान जी को पान का बीड़ा चढ़ाएं।
- मंगल कामना करते हुए इमरती का भोग लगाना भी शुभ माना जाता है।
- हनुमान जयंती के दिन रामचरितमानस के सुंदर कांड और हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए। 
- आरती के बाद गुड़-चने का प्रसाद बांटें।


कमेंट करें