नेशनल

SC ने कहा-सरकार तय करे सिनेमाघर मे राष्ट्रगान बजने पर खड़ा होना है या नहीं!

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
623
| अक्टूबर 23 , 2017 , 17:56 IST

सिनेमाघरों में राष्ट्रगान के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने गेंद केंद्र सरकार के पाले में डाल दिया है। कोर्ट ने सिनेमाघरों में अनिवार्य तौर पर राष्ट्रगान दिखाए जाने के अपने फैसले में किसी तरह के संशोधन से मना करते हुए केंद्र से इस मामले में फैसला लिए जाने का निर्देश दिया है

राष्ट्रगान पर कोर्ट का आदेश रहेगा बरकरार

हालांकि अभी इस मामले में कोर्ट का पुराना आदेश बरकरार रहेगा। बता दें कि सिनेमाघर में राष्ट्रगान के दौरान खड़े रहने के खिलाफ रिव्यू पिटिशन दाखिल की गई है। इस मामले पर सरकार ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि अगर कोई सिनेमाघर में खड़े होकर राष्ट्रगान नहीं गाता है तो वो राष्ट्रद्रोही नहीं है। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि सिनेमाघरों में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य होगा और दर्शकों को इस दौरान खड़े रहना होगा।

National anthem

दरअसल सुप्रीम कोर्ट में श्याम नारायण चौकसी की तरफ से याचिका दाखिल कर मांग की गई थी कि सिनेमाघरों में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजाया जाए जिसे स्वीकार करते हुए कोर्ट ने ये फैसला सुनाया था। 

सरकार तय करे सिनेमाघर में जन-गण-मन बजेगा या नहीं

देशभर के सिनेमाघरों में राष्ट्रगान बजाने का मामले पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सिनेमाघरों व अन्य स्थानों पर राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य हो या नहीं ये सरकार तय करे। कोर्ट ने कहा कि इस संबंध में कोई भी सरकुलर जारी किया जाए तो सुप्रीम कोर्ट के अंतरिम आदेश से सरकार प्रभावित ना हो।

सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा कि ये भी देखना चाहिए कि सिनेमाघर में लोग मनोरंजन के लिए जाते हैं, ऐसे में देशभक्ति का क्या पैमाना हो, इसके लिए कोई रेखा तय होनी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने सवाल उठाया कि इस तरह के मामले में नोटिफिकेशन या नियम बनाने का मामला संसद का है तो कोर्ट पर ये मामला ये काम कोर्ट पर क्यों थोप रही है? फिलहाल सुप्रीम कोर्ट का अंतरिम आदेश लागू रहेगा जिसमें सिनेमाघरों में राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य है। सुप्रीम कोर्ट 9 जनवरी को इस मामले पर दोबारा सुनवाई करेगा।

 


कमेंट करें