नेशनल

BSF के हेड कांस्टेबल शहीद नरेंद्र सिंह को राजकीय सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1601
| सितंबर 20 , 2018 , 13:58 IST

बीएसएफ की 176 बटालियन के हेड कांस्टेबल शहीद नरेंद्र सिंह को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। गुरुवार को शहीद नरेंद्र सिंह का पार्थिव शरीर सोनीपत लाया गया। शहीद के पार्थिव शरीर को देखते ही लोगों ने भारत माता की जय के नारे लगाने लगे। शहीद नरेंद्र सिंह अमर रहें के नारों से गांव गूंज उठा।

आपको बता दें कि पाकिस्तान ने फिर कायरतापूर्ण कार्रवाई को अंजाम देते हुए जम्मू संभाग के सांबा जिले के रामगढ़ सब सेक्टर में पाकिस्तान रेंजर्स की गोलाबारी में शहीद सीमा सुरक्षा बल(बीएसएफ) के जवान का पार्थिव शरीर भारत को सौंपने के बजाय उसके साथ बर्बरता की। शहीद के गले को चाकू से रेतने के साथ उनकी एक आंख को भी निकालने की कोशिश की गई।

पाकिस्तान की इस कायरता पूर्ण हरकत पर कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने जवान का साथ हुई कायरता पूर्ण हरकत पर रोष प्रकट किया है। साथ ही उन्होंने मोदी सरकार पर भी निशाना साधते हुए कहा कि जवानों के साथ इस तरह की बर्बरता हो रही है और मोदी सरकार चुप क्यों है ?

यह पहली बार है जब जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बीएसएफ के किसी जवान के पार्थिव शरीर से दुश्मन ने इस प्रकार की हरकत की है। पाकिस्तान की इस कार्रवाई के बाद जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर हाई अलर्ट कर दिया गया है।

बीएसएफ के जवानों को किसी भी प्रकार के हालात का सामना करने के लिए तैयार रहने को कहा गया है।शहीद की पहचान बीएसएफ की 176 बटालियन के हेड कांस्टेबल नरेंद्र कुमार(50) निवासी थाना कला, जिला सोनीपत, (हरियाणा) के रूप में हुई है। इस हमले के पीछे पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) का हाथ होने से भी इन्कार नहीं किया जा रहा है। पाकिस्तान की बैट टीम में पाकिस्तानी रेंजर्स के साथ आतंकी भी रहते हैं। वे अक्सर भारतीय जवानों में दहशत पैदा करने के लिए ऐसी बर्बर कार्रवाई करते हैं।


कमेंट करें