नेशनल

यूपी के मदरसों में अब पढ़ाई जाएंगी NCERT की किताबें, योगी सरकार ने दी मंजूरी

अमितेष युवराज सिंह | न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
436
| अक्टूबर 30 , 2017 , 13:52 IST

उत्तर प्रदेश के मदरसों में अब एनसीईआरटी की किताबें पढ़ाई जाएंगी। योगी आदित्यनाथ सरकार ने मदरसों के सिलेबस में बदलाव करते हुए इसकी मंजूरी दे दी है। ये बदलाव आलिया स्तर के मदरसों में की जाएगी। इसके अलावा कुरान और मजहबी किताबों के साथ-साथ आधुनिक शिक्षा की किताबें भी मदरसों में दिखेंगी। यूपी के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी।

आपको बता दें कि अब तक तैतानिया (1 से 5) और फौकानिया (5 से 8) स्तर के मदरसों में ही यह विषय पढ़ाये जाते थे लेकिन अब सरकार से मंजूरी मिलने के बाद मदरसा बोर्ड आलिया या उच्च आलिया स्तर (हाई स्कूल और उससे ऊपर) के मदरसों में भी गणित और विज्ञान जैसे विषयों को अनिवार्य करेगा। अभी तैतानिया और फौकानिया में सरकारी स्कूलों की तर्ज पर हिंदी, अंग्रेजी, गणित आदि विषय पाठयक्रम में शामिल हैं लेकिन मुंशी, मौलवी, आलिम, कामिल (हाई स्कूल और हाई स्कूल के बाद) में गणित, इतिहास, भूगोल और साइंस वैकल्पिक विषय के तौर पर पढ़ाये जाते हैं।

Maxresdefault

नये सिलेबस में हिंदी और अंग्रेजी को छोड़कर बाकी सभी विषयों की किताबें उर्दू भाषा में होंगी। इससे पहले यूपी सरकार ने फर्जीवाड़े और अनियमितता रोकने के लिए मदरसों के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का फैसला किया था। इसके अनुसार राज्य अल्पसंख्यक कल्याण विभाग ने प्रदेश के उन सभी मदरसों को जो सरकारी अनुदान पाते हैं या किसी भी तरीके से सरकार से जुड़े हैं उन्हें ऑनलाइन करने के अंतिम तिथि दी थी। प्रदेश में तहतानियां, फौकानियां, आलिया और उच्च आलिया स्तर के मदरसों की कुल संख्या 19,143 है। इनमें से केवल साढ़े 16 हजार मदरसों ने पंजीकरण की अंतिम तारीख बीतने तक पंजीकरण कराया।


कमेंट करें