बिज़नेस

NCLAT ने वालमार्ट को जारी किया नोटिस, पूछा-इंडिया में क्या होगा बिजनेस मॉडल?

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
2121
| सितंबर 7 , 2018 , 19:07 IST

नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्रिब्यूनल (एनसीएलएटी) ने वालमार्ट-फ्लिपकार्ट समझौते के खिलाफ दायर एक याचिका के तहत वालमार्ट को नोटिस जारी कर उससे बिजनेस मॉडल की जानकारी मांगी है। यह नोटिस छह सितंबर को जारी की गई।

इसमें कहा गया है, "अपील की योग्यता को देखने से पहले हम जानना चाहते हैं कि वालमार्ट इंटरनेशनल होल्डिंग्स इंक और फ्लिपकार्ट प्राइवेट लिमिटेड भारत के प्रासंगिक बाजार में अपना व्यापार किस तरीके से करेंगी।" वालमार्ट और फ्लिपकार्ट को इसका जवाब 20 सितंबर तक देना है। अब इस मामले में एनसीएलएटी में अगली सुनवाई 5 अक्टूबर को होगी।


वालमार्ट और फ्लिपकार्ट के खिलाफ ट्रेडर्स


फ्लि‍पकार्ट और अमेरि‍का की कंपनी वॉलमार्ट की डील को कॉम्पिटीशन कमीशन ऑफ इंडि‍या (CCI) ने मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही वालमार्ट की ओर से 16 अरब डॉलर में फ्लि‍पकार्ट में 77 फीसदी हि‍स्‍सेदारी लेने का रास्‍ता साफ हो गया है। डील को मंजूरी मि‍लने के बाद कारोबारी संगठन कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने कहा है कि‍ वह इस फैसले के खि‍लाफ कोर्ट में अपील भी कर दी है।


28 सितंबर को ट्रेडर्स करेंगे देश बंद


बता दें कि फ्लि‍पकार्ट और वॉलमार्ट की डील के खिलाफ ट्रेडर्स यूनियन ने 28 सितंबर को भारत बंद का ऐलान किया है। इसके अलावा डील के खिलाफ समर्थन जुटाने और रिटेल में एफडीआई को अनुमति न दिए जाने की मांग को लेकर 15 सितंबर से दिल्ली से ट्रेडर्स की रथ यात्रा शुरू करेंगे जो देश के 28 राज्यों में निकाली जाएगी। 16 दिसंबर को दिल्ली में राष्ट्रीय व्यापारी रैली की जाएगी।


बता दें कि अमेरिकी कंपनी वॉलमार्ट भारत की ई-कॉमर्स साइट फ्लिपकार्ट में 75 फीसदी हिस्‍सेदारी खरीदी है। फ्लिपकार्ट के बोर्ड ने इस डील को मंजूरी भी दे दी है। इस सौदे की कीमत करीब 1 लाख करोड़ रुपए आंकी गई है। रिपोर्ट्स के मुताबि‍क, वॉलमार्ट के साथ गूगल-पेरेंट कंपनी अल्‍फाबेट इंक भी इस इन्‍वेस्‍टमेंट में हि‍स्‍सा ले सकती है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें