खेल

टी20 मुकाबला: साउथ अफ्रीका की आज होगी 'विराट' परीक्षा, सुरेश रैना की वापसी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1054
| फरवरी 18 , 2018 , 08:07 IST

टीम इंडिया और साउथ अफ्रीका के बीच 3 मैचों की टी-20 सीरीज का पहला मुकाबला आज शाम 6 बजे से जोहानिसबर्ग के वांडरर्स स्टेडियम में खेला जाएगा। वनडे सीरीज में इतिहास रचने के बाद बेहतरीन फॉर्म में चल रही भारतीय टीम की नजरें अब तीन टी-20 मैचों की सीरीज जीतने पर भी है।

इस सीरीज के दौरान भारत की नजरें 2006 में एक मैच की सीरीज में मिली जीत को दोहराने की होगी। जिसमें टीम ने वीरेंद्र सहवाग की कप्तानी में छह विकेट से जीत हासिल की थी।

अपने ऑलराउंड खेल के दम पर वनडे सीरीज में एकतरफा जीत दर्ज करने वाली कोहली की सेना टी-20 सीरीज में अपने उसी प्रदर्शन को जारी रखना चाहेगी।

कोहली के पर टीम की जिम्मेदारी होगी। वह बल्ले से शानदार फॉर्म में हैं और वनडे सीरीज में उन्हें 'मैन ऑफ द सीरीज' भी चुने गए हैं। उनके अलावा रोहित शर्मा, शिखर धवन, महेंद्र सिंह धोनी, हार्दिक पंड्या खेल के छोटे फॉर्मेट में टीम को मजबूती देंगे।

सुरेश रैना की टी-20 टीम में वापसी हुई है, उनके आने से टीम के मिडिल ऑर्डर को बेशक मजबूती मिलेगी। वह टीम के प्रदर्शन में अहम रोल निभा सकते हैं। गेंदबाजी में युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव की जोड़ी टी-20 में भी मेजबान साउथ अफ्रीका टीम के लिए परेशानी बन सकती है।

दक्षिण अफ्रीका के कार्यवाहक कप्तान जेपी ड्यूमिनी को उम्मीद है कि वनडे सीरीज में 1-5 की करारी शिकस्त के बाद उनकी टीम भारत के खिलाफ शुरू हो रही 3 मैचों की टी20 सीरीज में युवा खिलाड़ियों और उनकी ‘आक्रमक शैली’ पर निर्भर होगी।

607377-kuldeep-yadav-virat-kohli-ms-dhoni-pti

वनडे सीरीज में बुरी तरह शिकस्त झेलने के बाद दक्षिण अफ्रीका ने टी20 सीरीज के लिए 14 सदस्यीय टीम में 6 नए खिलाड़ियों को मौका दिया है। जोहानिसबर्ग में पहला मैच खेला जाएगा।

दक्षिण अफ्रीका के कार्यवाहक कप्तान जेपी ड्यूमिनी को उम्मीद है कि वनडे सीरीज में 1-5 की करारी शिकस्त के बाद उनकी टीम भारत के खिलाफ शुरू हो रही 3 मैचों की टी20 सीरीज में युवा खिलाड़ियों और उनकी ‘आक्रमक शैली’ पर निर्भर होगी।

वनडे सीरीज में बुरी तरह शिकस्त झेलने के बाद दक्षिण अफ्रीका ने टी20 सीरीज के लिए 14 सदस्यीय टीम में 6 नए खिलाड़ियों को मौका दिया है। जोहानिसबर्ग में पहला मैच खेला जाएगा।

ड्यूमिनी ने कहा, ‘मुझे लगता है कि नए खिलाड़ियों के आने से हमें फायदा होगा। इस मुद्दे पर हमने सुबह भी चर्चा की कि हम ज्यादा से ज्यादा नए खिलाड़ियों को मौका दे सकें। यह प्रारूप अगल है। यह थोड़ा तेज और आक्रामक प्रारूप है।’ उन्होंने कहा, ‘मैं टीम का नेतृत्व करने को लेकर खुश हूं। मुझे लगता है कि मैं कप्तानी में अपना सर्वश्रेष्ठ कर पाता हूं। मैं इससे काफी उत्सुक हूं।’

ड्यूमिनी ने बारिश से प्रभावित चौथे एकदिवसीय का उदाहरण देते हुए कहा कि छोटे प्रारूप के मैच में उनकी टीम भारतीय आक्रमण का बेहतर तरीके से सामना करेगी। उन्होंने कहा, ‘अगर आप चौथा मैच देखोगे तो वह कम ओवरों का मैच हो गया था।

हमारे लिए यह टी20 के मंच जैसा क्रिकेट हो गया था। मुझे लगता है कि वैसी मानसिकता के साथ हम सर्वश्रेष्ठ करते हैं। इसलिए मैं यह देखने को लेकर काफी उत्सुक हूं कि इस प्रारूप में हम कैसा करते है।’

ड्यूमिनी ने कहा कि शानदार फॉर्म में चल रहे भारतीय टीम के शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों (शिखर धवन, रोहित शर्मा और कप्तान विराट कोहली) को आउट कर टीम पर दबाव बनाना चाहेंगे। उन्होने कहा, ‘दक्षिण अफ्रीका को भारतीय शीर्ष क्रम को रोकना होगा।

वनडे सीरीज में 500 से ज्यादा रन बनाने वाले विराट कोहली शानदार फॉर्म में है। शिखर धवन भी अच्छी फॉर्म में है, वनडे में आप रोहित शर्मा को नजरअंदाज नहीं कर सकते।’

इसे बी पढे़ं-: कोहली की तारीफ की लिए रवि शास्त्री ढूंढ रहे हैं नए शब्द

अफ्रीका के पास एबी डिविलियर्स, डेविड मिलर और क्रिस मॉरिस के रूप में टी-20 के बेहतरीन खिलाड़ी हैं। यह तीनों हालांकि वनडे सीरीज में पूरी तरह से विफल रहे थे. मिलर ने चौथे वनडे में जरूर अपना जौहर दिखाया था।

इन सभी के अलावा हेनरिक क्लासेन भी इस फॉर्मेट में भारत के लिए खतरनाक साबित हो सकते हैं।

टीमें :

भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, लोकेश राहुल, सुरेश रैना, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), दिनेश कार्तिक, हार्दिक पंड्या, मनीष पांडे, अक्षर पटेल, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, जयदेव उनादकट, शार्दुल ठाकुर।

साउथ अफ्रीका: जे पी ड्यूमिनी (कप्तान), फरहान बेहार्डियन, जूनियर डाला, एबी डिविलियर्स, रेजा हेंड्रिक्स, किस्टियन जोंकर, हेनरिक क्लासेन (विकेटकीपर), डेविड मिलर, क्रिस मॉरिस, डेन पेटरसन, एरॉन फंगिसो, अंदिले फेहुलकवायो, तबरेज शम्सी, जोन-जोन सम्ट्स।


कमेंट करें