खेल

साथी की डोपिंग से बिगड़ा उसेन बोल्ट का रिकॉर्ड, छिन गया 2008 का ओलंपिक गोल्ड मेडल

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
751
| जून 1 , 2018 , 16:21 IST

खेल पंचाट न्यायालय (सीएएस) द्वारा लिए गए के कारण जमैका के दिग्गज धावक उसेन बोल्ट डोपिंग मामले में फंस गए हैं और उन्हें अपना स्वर्ण पदक भी लौटाना होगा। हालांकि, ट्रैक एंड फील्ड से संन्यास ले चुके बोल्ट स्वंय के कारण नहीं बल्कि अपने साथी धावक के कारण फंसे हैं। 

'सन' की रिपोर्ट के अनुसार, सीएएस ने बोल्ट के साथी धावक नेस्टा कार्टर की बीजिंग ओलम्पिक में चार गुणा 100 मीटर रिले रेस से अयोग्य घोषित किए जाने के खिलाफ की गई अपील ठुकरा दी है। 

कार्टर को बीजिंग ओलम्पिक में के दौरान लिया गया डोप टेस्ट पॉजिटिव आया था। इस कारण इस रिले रेस में कार्टर के साथ शामिल हुए बोल्ट को अपना नौवां स्वर्ण पदक गंवाना होगा। 

सीएएस पैनल द्वारा दिए गए एक बयान में कहा गया,

"बीजिंग ओलम्पिक डोप मामले में परीक्षण परिणामों को अनदेखा किए जाने या कुछ कथित विफलताओं के लिए आईओसी (अनुशासनात्मक) निर्णय को हटाए जाने के मामले में कार्टप द्वारा उठाए गए किसी भी तर्क को स्वीकार नहीं किया जा सकता।"

बीजिंग ओलम्पिक की चार गुणा 100 मीटर रिले रेस में कार्टर ने दौड़ की शुरुआत की थी, जिसके बाद तीसरी बारी में बोल्ट ने बेटन अपने बाथ में लेकर इस रेस को 37.10 सेकेंड में पूरा कर विश्व रिकॉर्ड बनाया था। 

अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति द्वारा 2016 में लिए गए बीजिंग के ताजा नमूनों में कार्टर को डोप का दोषी पाया गया। इस कारण जमैका की टीम को इस स्पर्धा से अयोग्य घोषित कर दिया गया। 

कार्टर की अपील के बावजूद सीएएस ने इस अयोग्यता को बरकरार रखा है ऐसे में अब त्रिनिदाद एंव टोबैगो की टीम को स्वर्ण पदक दिए जाएंगे। 

इसके अलावा, आईओसी जापान को रजत और ब्राजील को कांस्य पदक से नवाजेगी।

 

बोल्ट ने 2008, 2012, 2016 ओलिंपिक में 100, 200 और 4×100 मीटर रिले में गोल्ड जीता था

- बोल्ट ने 100, 200 और 4×100 मीटर रिले में लगातार 3 बार ओलिंपिक गोल्ड मेडल जीतने का रिकॉर्ड बनाया था। बोल्ट ने तीनों स्पर्धाओं 2008 बीजिंग ओलिंपिक, 2012 लंदन ओलिंपिक और 2016 रियो डि जेनेरियो ओलिंपिक में गोल्ड मेडल जीता था।

- सीएएस के इस फैसले के कारण बोल्ट के बेहतरीन ओलिंपिक कॅरियर में दाग लग गया। साथ ही कॉर्टर की अर्जी खारिज होने के बाद उनका यह रिकॉर्ड भी टूट गया है।

- जमैका की 4×100 मीटर रिले टीम में बोल्ट, कॉर्टर के अलावा माइकल फ्राटर और असफा पॉवेल भी थे।

- कॉर्टर 2011, 2013 और 2015 में हुई वर्ल्ड चैम्पियनशिप में भी कॉर्टर बोल्ट की टीम के साथी रहे हैं। 2012 में लंदन ओलिंपिक में जमैका की जिस टीम में 4×100 मीटर रिले ने गोल्ड मेडल जीता था, उसमें भी बोल्ट के अलावा कॉर्टर भी थे।


कमेंट करें