नेशनल

पति ही निकला पत्नी का हत्यारा, कर्ज से छुटकारा पाने के लिए रची साजिश

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
944
| अक्टूबर 26 , 2017 , 13:00 IST

दिल्ली के शालीमार बाग इलाके में हुए एक महिला के मर्डर केस की मिस्ट्री को दिल्ली पुलिस ने सुलझा लिया है। पुलिस के मुताबिक  प्रिया का क़त्ल किसी ओर ने नहीं बल्कि उसके पति पंकज मेहरा ने ही किया था। पंकज ने हत्या की जो कहानी पुलिस को बताई थी वो भी पूरी तरह झूठी निकली। दरहसल पकंज कर्ज से छुटकारा चाहता था इसीलिए उसने इस वारदात को अंजाम दिया। साथ ही प्रिया पंकज की दूसरी पत्नी थी। पंकज पहली पत्नी के साथ रहना चाहता था और प्रिया से छुटकारा पाना चाहता था।

पुलिस के मुताबिक कर्ज में डूबे बिजनसमैन पंकज मेहरा ने कर्ज देने वाले को फंसाने के लिए अपनी ही पत्नी की हत्या की। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। डीसीपी मिलिंद दुमड़ा ने बताया कि बिजनसमैन ने पूछताछ के दौरान अपना गुनाह कबूल कर लिया और उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

 

पत्नी को मारी गोली और पुलिस को बताई झूठी कहानी:

शालीमार बाग के रहने वाले बिजनसमैन पंकज मेहरा ने बुधवार को पुलिस के सामने कहानी गढ़ी कि जब वह अपने परिवार के साथ तड़के 3 बजे के करीब बादली रेड लाइट के पास से गुजर रहे थे तभी कुछ हमलावरों ने उनपर ताबड़तोड़ गोलियां चलाईं। गोली लगने से मेहरा की पत्नी प्रिया गंभीर रूप से घायल हो गई और अस्पताल ले जाते वक्त उनकी मौत हो गई। कार को अंदर दोनों ओर के साइड मिरर चूरचूर मिले।

कर्ज देने वाले को फंसाना चाहता था पंकज:

पंकज मेहरा ने सोनीपत के रहने वाले मोनू से ब्याज पर 4 लाख रुपये कर्ज लिया था। ऊंची ब्याज दर होने की वजह से यह रकम कई गुना बढ़ गई। कर्ज देने वाला अब 40 लाख रुपये की मांग कर रहा था। पंकज कर्ज अदा करने में आनाकानी कर रहा था। आखिरकार उसने कर्ज देने वाले को फंसाने के लिए अपनी ही पत्नी की हत्या की खौफनाक साजिश को अंजाम दिया।

पुलिस को पंकज की कहानी पर था शक:

पुलिस को इस बात पर शक हुआ कि हमलावरों ने पत्नी को ही निशाना क्यों बनाया, बिजनसमैन को कोई गोली क्यों नहीं लगी। इसके बाद पुलिस ने आस-पास के सीसीटीवी फुटेज और कुछ मोबाइल नंबरों की सीडीआर निकलवाई। शक पुख्ता होने पर पुलिस ने जब बिजनसमैन से सख्ती से पूछताछ की तो वह टूट गया और अपना गुनाह कबूल कर लिया।

Priya-mehra


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें