इंटरनेशनल

न्यूजीलैंड की मस्जिदों में हुई गोलीबारी के बाद 9 भारतीय लापता

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1581
| मार्च 16 , 2019 , 08:47 IST

न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों में हुई गोलीबारी के बाद भारतीय नागरिकता वाले या भारतीय मूल के कम से कम नौ लोगों के लापता होने की खबरें सामने आई है। गोलीबारी की इन घटनाओं में 49 लोगों की मौत हो गई थी। इस बावत आधिकारिक सूचना का इंतजार है। उन्होंने कहा कि मानवता के खिलाफ ये गंभीर अपराध है। हमारी प्रार्थनाएं उन परिवार वालों के साथ हैं जिन्होंने इस हादसे में अपने परिवार वालों को खोया है।

अधिकारियों ने बताया कि किसी भी प्रकार की सहायता और जानकारी के लिए न्यू जीलैंड में भारतीय उच्चायोग ने 24x7 हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। ये हेल्पलाइन नंबर 021803899 और 021850033 हैं। हमले में घायल हुए भारतीयों के परिवारवालों को न्यूजीलैंड के वीजा भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं। आपको बता दें कि न्यूजीलैंड में तकरीबन दो लाख भारतीय और भारतीय मूल के लोग रहते हैं। भारतीय उच्चायोग के आंकड़ों के मुताबिक इस देश में 30 हजार से अधिक भारतीय छात्र हैं।

भारतीय उच्चायुक्त संजीव कोहली ने ट्वीट किया, 'कई सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, भारतीय नागरिकता/भारतीय मूल के नौ लोग लापता हैं। आधिकारिक पुष्टि का अभी भी इंतजार किया जा रहा है। मानवता के खिलाफ भारी अपराध। उनके परिवारों के लिए हमारी प्रार्थना।' उन्होंने कहा, 'क्राइस्टचर्च के उस समुदाय के सदस्यों के प्रति मेरी गहरी कृतज्ञता, जो आज के भयावह हमले के पीड़ितों के बारे में हमारे लिए जानकारी जुटाने के लिए लगातार काम कर रहे हैं। इस समर्पण और एकजुटता से बेहतर कोई दूसरा उदाहरण नहीं हो सकता।'

बता दें कि न्यूजीलैंड के कमिश्नर माइक बुश ने कहा कि मरने वालों की संख्या बढ़कर 49 हो गई है और साथ ही कई घायलों की हालत गंभीर है। डीन एवेन्यू मस्जिद में 41 लोग मारे गए और लिनवुड मस्जिद में सात की मौत हो गई। उन्होंने कहा कि क्राइस्टचर्च अस्पताल में भर्ती 40 लोगों में से एक की मौत हो गई है।

पीएम मोदी ने की हमले की निंदा

दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न्यूजीलैंड की अपनी समकक्ष जैसिंडा अर्डर्न को पत्र लिखकर क्राइस्टचर्च में इबादत के स्थान पर गोलीबारी में निर्दोष लोगों की मौत पर गहरी संवेदना एवं दुख प्रकट किया। प्रधानमंत्री ने जोर दिया कि विविधतापूर्ण एवं लोकतांत्रिक समाज में हिंसा के लिये कोई स्थान नहीं है। एक आधिकारिक वक्तव्य के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी ने अपने पत्र में क्राइस्टचर्च हमले में मारे गए लोगों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट की और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। मोदी ने इस कठिन घड़ी में न्यूजीलैंड के मित्रवत लोगों के प्रति पूरी एकजुटता व्यक्त की। प्रधानमंत्री ने जोर दिया कि भारत आतंकवाद के हर स्वरूप और ऐसे कार्यों का समर्थन देने वालों की कड़ी निंदा करता है।

फेसबुक पर लाइव था बंदूकधारी:

न्यूजीलैंड की मीडिया के मुताबिक, क्राइस्टचर्च के मस्जिदों में फायरिंग का बंदूकधारी ने 17 मिनट तक लाइव वीडियो बनाया. बंदूकधारी की पहचान ब्रेंटन टैरंट के रूप में हुई है। 28 वर्षीय ब्रेंटन टैरंट ऑस्ट्रेलिया का रहने वाला है।

बंदूकधारी ने पहले डीन एवेन्यू में अल नूर मस्जिद के पास अपनी कार पार्क की. इसे बाद उसने बंदूक निकाला और मस्जिद में घुसते ही अंधाधुंध फायरिंग करने लगा. बताया जा रहा है कि वह आर्मी ड्रेस पहना था और उसने करीब दो मैगजीन फायरिंग की। उसकी गाड़ी में कई और हथियार पड़े हुए थे।

एयर न्यूजीलैंड की सभी फ्लाइट रद्द

पत्रकारों के साथ बात करते हुए न्यूजीलैंड की पीएम जैसिंडा अर्डर्न ने कहा कि हम जो जानते हैं, उससे लगता है कि हमले की योजना अच्छी तरह से बनाई गई है। संदिग्ध वाहनों से जुड़े दो विस्फोटक उपकरण मिले हैं और उन्हें डिफ्यूज कर दिया गया है। चार गिरफ्तार किए गए हैं। इनमें से एक ने सार्वजनिक रूप से कहा है कि वे ऑस्ट्रेलियाई मूल का है। संयुक्त खुफिया समूह को तैनात किया गया है और पुलिस मामले की जांच कर रही है। सेना के अतिरिक्त पुलिस कर्मचारियों को इलाके में भेजा जा रहा है। एयर न्यूजीलैंड ने आज रात क्राइस्टचर्च से बाहर सभी टर्बोप्रॉप उड़ानों को रद्द कर दिया है और सुबह स्थिति की समीक्षा करेगा। घरेलू और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जेट सेवाओं का संचालन जारी है। इसके साथ ही सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

 


कमेंट करें