नेशनल

अहमदाबाद: सिविल अस्पताल में अब तक 18 बच्चों की मौत, कांग्रेस ने सरकार से मांगा जवाब

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
734
| अक्टूबर 29 , 2017 , 14:11 IST

अहमदाबाद के सिविल हॉस्पिटल में शुक्रवार रात 12 से शनिवार रात तक 9 नवजात बच्चों की मौत हो गई। मौत के कारणों की वजह अब तक साफ नहीं हो सकी है। मरने वाले सभी नवजात बच्चे आईसीयू में भर्ती थे। इन मौतों के बाद कांग्रेस ने गुजरात सरकार से इस पर जवाब मांगा है। खबर के मुताबिक हॉस्पिटल में 5 बच्चों को गंभीर हालत में भर्ती किया गया था। तीन बच्चों को जन्मजात अस्थमा की परेशानी थी जिससे वे सांस नहीं ले पा रहे थे। इसके अलावा एक बच्चे को मेकोनिया एस्पिरेशन सिंड्रोम (एक तरह की सांस की बीमारी) की शिकायत थी।

इस अस्पताल में नवजात शिशुओं की मौत का औसत प्रतिदिन लगभ 5 से 6 मौतों का है, इसलिए 9 बच्चों की मौत थोड़ा चिंताजनक स्थिति है। हालांकि अस्पताल प्रशासन किसी असामान्य घटना से इनकार कर रहा है। आपको यहां यह भी बता दें कि पिछले तीन दिनों में 18 नवजात शिशुओं की मौत हो चुकी है। इनमें 9 की मौत केवल 28 अक्टूबर को हुई।

इस घटना पर कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने ट्वीट कर कहा कि गुजरात सरकार को इसके लिए जवाबदेही स्वीकार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार या तो यह स्वीकार करे कि डॉक्टरों ने लापरवाही की या तो यह माने कि उनकी माताएं कुपोषित थी।

जानकारी के मुताबिक़ 5 बच्चों को लुनावाड़ा, सुरेंदरनगर, मनसा, विरमगम और हिम्मतनगर के विभिन्न अस्पतालों से गंभीर हालत में अहमदाबाद के सिविल अस्पताल के लिए रेफर किया गया था। मृत बच्चों के परिजन हंगामे की स्थिति न बनाए इसीलिए अस्पताल के बाहर पुलिस बल तैनात है।

आपको बता दें कि सरकारी अस्पताल में बच्चों की मौत का यह मामला नहीं है इससे पहले उत्तर प्रदेश में गोरखपुर जिले के बीआरडी हॉस्पिटल में अगस्त महीने में 24 घंटे के अंदर ऑक्सीजन सप्लाई बंद होने की वजह से 60 से ज्यादा बच्चों की मौत हो गई थी।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें