नेशनल

SC-ST एक्‍ट में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, नहीं होगी तत्‍काल गिरफ्तारी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1392
| मार्च 20 , 2018 , 14:59 IST

सुप्रीम कोर्ट ने एससी/एसटी पर (अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति) बड़ा फैसला सुनाते हुए कुछ प्रावधानों में बदलाव किया है। अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अधिनियम 1989 के तहत अपराध में सुप्रीम कोर्ट ने नए दिशा निर्देश जारी किए हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने साफ किया है कि ऐसे मामले में अब पब्लिक सर्वेंट की तत्काल गिरफ्तारी नहीं होगी। इतना ही नहीं गिरफ्तारी से पहले आरोपों की जांच जरूरी है और गिरफ्तारी से पहले जमानत भी दी जा सकती है। न्यायमूर्ति आदर्श गोयल और यू यू ललित की पीठ ने कहा कि कानून के कड़े प्रावधानों के तहत दर्ज केस में सरकारी कर्मचारियों को अग्रिम जमानत देने के लिए कोई बाधा नहीं होगी।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने माना है कि एससी/एसटी एक्ट का दुरुपयोग होता रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि किसी भी पब्लिक सर्वेंट पर केस दर्ज करने से पहले DSP स्तर का पुलिस अधिकारी प्रारंभिक जांच करेगा। किसी सरकारी अफसर की गिरफ्तारी से पहले उसके उच्चाधिकारी से अनुमति जरूरी होगी।

इसे भी पढ़ें-: मनीष सिसोदिया ने बताया, आखिर क्यों माफी मांग रहे हैं अरविंद केजरीवाल?

महाराष्ट्र की एक याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने ये अहम फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने इस दौरान कुछ सवाल उठाए। गौरतलब है कि एससी/एसटी एक्ट के तहत कई मामले फर्जी भी सामने आ चुके हैं। लोगों का आरोप है कि कुछ लोग अपने फायदे और दूसरों को नुकसान पहुंचाने के लिए इस कानून का दुरुपयोग कर रहे हैं। जिसको लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया गया।


कमेंट करें