इंटरनेशनल

चीन की यात्रा पर निकला तानाशाह किम, 2011 के बाद पहली बार रखा देश से बाहर कदम

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1131
| मार्च 27 , 2018 , 09:41 IST

उत्तर कोरिया के तानशाह शासक किम जोंग इस समय चीन की यात्रा पर हैं। इस यात्रा को किम जोंग ने पूरी गोपनीय रखा है। जिसके कारण न तो यात्रा की पुष्टि हो सकी है और न ही किम की यात्रा का मकसद पता चल सका है।

किम के इस दौरे की जानकारी रखने वाले तीन स्रोतों का हवाला देते हुए, समाचार एजेंसी ब्लूमबर्ग ने बताया कि उत्तरी कोरियाई नेता रविवार और सोमवार को चीन की राजधानी में थे।

किम जोंग उन की ओर से साल 2011 में सत्ता संभालने के बाद यह पहली विदेश यात्रा थी। जापानी मीडिया ने भी इससे पहले खबर दी थी कि उत्तर कोरिया का कोई बेहद उच्चस्तरीय अधिकारी ट्रेन से बीजिंग पहुंचा है।

निप्पो टीवी ने पीले रंग की लाइन वाली एक हरी ट्रेन को दिखाया जो उस ट्रेन की तरह थी जिसमें किम के पिता किम जोंग द्वितीय ने 2011 में चीन की यात्रा की थी। मालूम हो कि चीन पारंपरिक रूप से उत्तर कोरिया का घनिष्ठ सहयोगी रहा है।

स्टेशन पर कड़ी सुरक्षा-:

चीनी सोशल मीडिया पर डैन्डॉन्ग में रहने वाले कुछ लोगों ने बताया कि स्टेशन पर ट्रेन के आसपसा बेहद कड़ी सुरक्षा थी, जिसकी वजह से भी यह माना जा रहा था कि किम यहां से गुजर रहे हैं। सोमवार दोपहर को पुलिस ने पेइचिंग में पूर्व से लेकर पश्चिम तक कड़ी सुरक्षा रखी। कुछ इमारतों में एंट्री तक पर रोक थी।

इतना ही नहीं पुलिस ने तियानमन स्क्वॉयर से सभी पर्यटकों को भी हटाया। अमूमन ऐसा तभी होता है जब ग्रेट हॉल ऑफ द पीपल में कोई महत्वपूर्ण बैठक होनी हो, जहां चीन के वरिष्ठ नेता दूसरे देश के नेताओं से मुलाकात करते हैं। सोमवार शाम को ग्रेट हॉल के बाहर भी भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती दिखी।

रॉयटर्स के रिपोर्टर्स ने सोमवार देर शाम देखा कि एक काफिला चांगन ऐवेन्यू से निकल रहा है और स्टेट गेस्ट हाउस की तरफ बढ़ रहा है। काफिले में एक लिमोज़ीन (लंबी गाड़ी) भी थी, जिसके शीशे काले थे। इसके साथ ही पुलिसवाले मोटर साइकल पर थे।

चीनी सेना के करीबी सूत्र ने भी रॉयटर्स को बताया कि यह पूरी तरह से खारिज करना संभव नहीं है कि किम पेइचिंग आए, लेकिन इसकी पुष्टि नहीं की जा सकती है।

बता दें कि जब किम जोंग इल चीन की यात्रा करते थे, तब भी उनके वापस जाने के बाद ही यात्रा की पुष्टि की जाती थी। किम जोंग इल अपनी निजी ट्रेन से चीन और रूस की यात्रा किया करते थे, वह भी कड़ी सुरक्षा के बीच। राजनयिकों और अन्य सूत्रों ने बताया कि किम जोंग इल विमान से विदेश यात्रा इसलिए नहीं करते थे क्योंकि उन्हें सुरक्षा का खतरा होता था।

इसे भी पढ़ें-: ट्रंप ने दिया पाकिस्तान को झटका, न्यूक्लियर ट्रेड कर रहीं 7 कंपनियों पर लगाया प्रतिबंध

हालांकि, उनके बेटे किम जोंग उन ने स्विट्जरलैंड से पढ़ाई की है और कई बार प्लेन में बैठी उनकी तस्वीरें मीडिया में भी आई हैं। लेकिन साल 2011 में पिता के निधन के बाद सत्ता संभालने के वक्त से वह देश से बाहर नहीं गए हैं।


कमेंट करें