राजनीति

राफेल डील पर बोले राहुल- सुप्रीम कोर्ट में मोदी जी की चोरी पकड़ी गई, पिक्चर अभी बाकी..

राजू झा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2327
| नवंबर 13 , 2018 , 15:36 IST

राफेल डील की प्रक्रिया और कीमत के बारे में केंन्द्र सरकार के सुप्रीम कोर्ट को जानकारी देने पर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर तंज भरे लहजे में कहा है कि मोदी ने सुप्रीम कोर्ट में अपनी गलती मान ली है। ट्वीट कर राहुल गांधी ने कहा, 'सुप्रीम कोर्ट में मोदी जी ने मानी अपनी चोरी। हलफनामें में माना कि उन्होंने बिना वासुसेना से पूछे कॉन्ट्रैक्ट बदला और 30,000 करोड़ रुपये अंबानी की जेब में डाले। पिक्चर अभी बाकी है मेरे दोस्त...।'

C

बता दें कि केंद्र सरकार ने राफेल डील के फैसले की प्रक्रिया के बारे में याचिकाकर्ताओं को जानकारी दी थी और सुप्रीम कोर्ट को सीलबंद लिफाफे में राफेल की कीमत के बारे में भी बताया। इस बीच राफेल बनाने वाली कंपनी दसॉ के सीईओ के इंटरव्यू पर भी कांग्रेस ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, 'तय इंटरव्यू और गढ़े गए झूठ राफेल घोटाले को दबा नहीं सकते। पहला नियम: लाभ पाने वाले व्यक्ति और सह-आरोपी के बयान का कोई महत्व नहीं। दूसरा नियम: लाभ पाने वाला और आरोपी अपने ही केस में जज नहीं बन सकते हैं।'

दसॉ के CEO ट्रैपियर से जब पूछा गया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि दसॉ रिलायंस ग्रुप को अॉफसेट पार्टनर चुनने को लेकर झूठ बोल रहा है तो उन्होंने कहा कि, मेरी छवि झूठ बोलने वाले व्यक्ति की नहीं है। मेरी पॉजिशन पर आकर आप झूठ बोलने का रिस्क नहीं ले सकते।' कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 2 नवंबर को आरोप लगाया था कि दसॉ ने नुकसान झेल रही अनिल अंबानी की कंपनी में 284 करोड़ रुपये निवेश किए हैं। उन्होंने कहा था, 'यह साफ है कि दसॉ सीईओ झूठ बोल रहे हैं। यदि इस मामले में जांच होती है तो मोदी को परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।'

अपने इंटरव्यू में ट्रैपियर ने कहा उनका कांग्रेस पार्टी के साथ डील करने का पुराना अनुभव है। कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा की गई इस टिप्पणी से वह दुखी हैं। ट्रैपियर ने कहा, 'हमारा कांग्रेस पार्टी के साथ लंबा अनुभव है। हमारी 1953 में भारत के साथ हुई डील भारत के पहले पीएम नेहरू के साथ थी। हम लंबे समय से भारत के साथ काम कर रहे हैं। हम किसी पार्टी के लिए काम नहीं करते हैं। हम भारतीय वायु सेना और भारत सरकार को फाइटर जेट जैसे रणनीतिक प्रॉडक्ट सप्लाई करते हैं। यह सबसे ज्यादा जरूरी है।'


कमेंट करें