इंटरनेशनल

पाकिस्तान में इकलौते सिख पुलिस अधिकारी से मारपीट, परिवार समेत घर से निकाला

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1791
| जुलाई 11 , 2018 , 14:49 IST

पाकिस्तान के इकलौते सिख पुलिस अधिकारी गुलाब सिंह से बदसलूकी का मामला सामने आया है। गुलाब सिंह का आरोप है कि लाहौर स्थित उनके घर में कुछ लोगों ने मारपीट की और परिवार समेत घर से निकाल दिया। गुलाब सिंह का घर लाहौर के डेरा चहल इलाके में है जहां से जबरन उन्हें निकाला गया और उनकी पगड़ी खोलकर फेंक दी गई।

मीडिया से बातचीत के दौरान गुलाब सिंह ने बताया कि पाकिस्तान से सिखों को निकालने की साजिश की जा रही है। “1947 से ही मेरा परिवार पाकिस्तान में रह रहा है। दंगों के बाद भी हमने ये देश नहीं छोड़ा। लेकिन, अब हमें इसके लिए मजबूर किया जा रहा है। मेरे मकान को सील कर दिया गया है, मुझे और मेरे परिवार के साथ मारपीट पीट किया गया और मेरी आस्था का अपमान किया गया”  गुलाब सिंह पुलिस से अनुरोध करते ही रह गए कि वह अपने घर में 1947 से रह रहे हैं उन्हें कम से कम दस मिनट का वक्त दिया जाए लेकिन पुलिस ने उनकी नहीं सुनी।

गुलाब सिंह बुधवार को मीडिया के सामने आए और आपबीती सुनाई। कहा है कि जिसमें गुलाब सिंह कह रहे हैं, "मैं गुलाब सिंह पाकिस्तान का पहला सिख ट्रैफिक वॉर्डन हूं. मेरा साथ ऐसा सलूक किया जा रहा है जैसा चोरों-डाकुओं के साथ किया जाता है. मुझे मेरे घर से घसीटकर बाहर निकाला गया और मेरे घर में ताले लगा दिए गए." गुलाब सिंह ने वीडियो में कहा है कि "तारिक वजीर एडिशनल सेक्रटरी और तारा सिंह जो पाकिस्तान गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी का भूतपूर्व प्रधान है, दोनों ने लोगों को खुश करने के लिए यह काम किया है। अदालत में मेरे खिलाफ केस भी चल रहे हैं, इस पूरे गांव में सिर्फ मुझे ही निशाना बनाया जा रहा है और मेरा घर खाली करवाया गया है. ''आप देख सकते हैं मेरे सिर पर पगड़ी भी नहीं है, वे मेरी पगड़ी भी छीनकर ले गए और उन्होंने मेरे बाल भी खींचे हैं।"

पिछले महीने हुई थी सिख धर्मगुरु की हत्या 

पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर अत्याचार की घटनाएं नई नहीं हैं। पाकिस्तान की अल्पसंख्यक हिंदू और सिख आबादी आए दिन भेदभाव का शिकार बनती है। एक महीने पहले ही पाकिस्तान के खैबर पख्तूनवा प्रांत के पेशावर में सिख धर्मगुरु चरणजीत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हमले के बाद भी सिख समुदाय के लोगों ने प्रदर्शन किया था।


कमेंट करें