इंटरनेशनल

भारत के साथ आजादी पाने वाला पाकिस्तान...क्यों 14 अगस्त को मनाता है स्‍वतंत्रता दिवस?

आशुतोष कुमार राय, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2290
| अगस्त 14 , 2018 , 14:26 IST

पाकिस्तान आज यानी 14 अगस्त को अपना 72वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। 15 अगस्त, 1947 भारतीय इतिहास की वो तारीख है जब भारत के साथ-साथ पाकिस्तान भी ब्रिटिश हुकूमत के चंगुल से आजाद हुआ था। लेकिन 15 अगस्त के बावजूद पाकिस्तान अपनी आजादी का जश्न 14 अगस्त को मनाता है।

56

पाकिस्तान में 14 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाए जाने की वजह बताई जाती है कि पाकिस्तान के रूप में अलग राष्ट्र की स्वीकृति उसे 14 अगस्त को मिल गई थी। इसी दिन ही ब्रिटिश लॉर्ड माउंटबेटेन ने पाकिस्तान को स्वत्रंत राष्ट्र का दर्जा देकर सत्ता सौंपी थी।

5

दो मुल्क बनने की बात पर देश के अंदर हर जगह हिंसा और मार काट चल रही थी। सी गोपालाचारी ने कहा था कि अगर हम जून 1948 तक का इंतजार करेंगे तो सत्ता हस्तांतरित करने के लिए कुछ भी नहीं बचेगा। इसलिए लॉर्ड माउंटबेटेन ने तय तारीख से पहले अगस्त 1947 में ही सत्ता सौंपने का फैसला किया और कहा कि इससे दंगे और हत्याएं रुक जाएगी।

3

देश के अंदर हर जगह हिंदू और मुसलमानों के बीच दंगे हो रहे थे जिसे खत्म करना लॉर्ड माउंटबेटेन के लिए भी चुनौती बना हुआ था। 20 फरवरी 1947 को भारत का अंतिम वायसराय नियुक्त होने वाले माउंटबेटेन ने कहा था कि जहां कहीं भी औपनिवेशिक शासन का अंत हुआ है वहां हत्याएं और दंगे हुए हैं। इसकी कीमत चुकानी पड़ती है। माउंटबेटेन की जानकारी के आधार पर ब्रिटेन ने जल्द स्वतंत्र करने का फैसला किया था।

 

इसे देखते हुए ब्रिटिश संसद में भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम 4 जुलाई 1947 को पेश किया गया और यह 15 दिनों के अंदर पारित हो गया। जिसमें लिखा था कि भारत में 15 अगस्त 1947 को ब्रिटिश शासन का अंत हो जाएगा। इसके अनुसार भारत और पाकिस्तान दो स्वतंत्र देश बनने तय हुए थे।

1

15 अगस्त की तारीख चुने जाने पर माउंटबेटेन ने बताया था कि, 'यह तारीख मैंने गलती से बोल दी थी। जब उन्होंने पूछा कि स्वतंत्रता के लिए एक तारीख को चुनें तो मुझे अगस्त या सितंबर को चुनना था। फिर मैंने 15 अगस्त को चुना क्योंकि यह जापान के समर्पण की दूसरी वर्षगांठ थी।'

रमज़ान के 27वें दिन को भी माना जाता है अहम वजह-:

एक और मान्यता यह भी है कि साल 1947 में 14 अगस्त को रमज़ान का 27वां दिन यानी शब-ए-क़द्र पड़ रहा था। शब-ए-क़द्र मुसलमानों के लिए काफी पवित्र रात होती है। माना जाता है कि इसी रात क़ुरआन मुकम्मल हुई थी। इसलिए पाकिस्तान आज भी 14 अगस्त को ही स्वतंत्रता दिवस मनाने की परंपरा को बरकरार रखे हुए है।

2

जिन्ना ने 15 अगस्त को कहा था पाकिस्तान का आज़ादी दिवस-:

यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि पाकिस्तान के संस्थापक मुहम्मद अली जिन्ना ने पहले स्वतंत्रता दिवस पर अपने संदेश में 15 अगस्त को ही पाकिस्तान के आज़ादी का दिन कहा था। पाकिस्तान में पहले 14 और 15 अगस्त दोनों ही दिन स्वतंत्रता दिवस मनाए गए। मगर इसके बाद पाकिस्तान ने अपना स्वतंत्रता दिवस एक दिन पहले 14 अगस्त को मनाना शुरू कर दिया। जिन्ना का स्वतंत्रता दिवस संदेश भी 14 अगस्त को ही सुनाया जाता है।


कमेंट करें