नेशनल

UN में PAK पर भारत का पलटवार- कश्मीर हमारा, कोई गलतफहमी नहीं पाले 'टेररिस्तान'

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
510
| सितंबर 22 , 2017 , 11:04 IST

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी के झूठ पर भारत ने पलटवार किया है। भारत ने कहा है कि पाकिस्तान आतंकियों का गढ़ है और दुनिया को मानवाधिकार पर पाकिस्तान के ज्ञान की जरूरत नहीं है। पाकिस्तान अपनी ही जमीन पर मानवाधिकारों का उल्लंघन करता रहा है। भारत ने यह भी कहा कि पाकिस्तान को यह समझ लेना चाहिए जम्मू कश्मीर हमारा अभिन्न हिस्सा है।

Eenam 1

यूएन में भारत की प्रथम सचिव ईनम गंभीर ने पाकिस्तान को 'टेररिस्तान' करार देते हुए कहा कि वह लगातार आतंकियों को पनाह देता रहा है। यह देश आज पूरी तरह आतंक को पैदा कर रहा है। यह असाधारण है कि एक स्टेट जो ओसामा बिन लादेन और मुल्ला उमर को पनाह देता है, पीड़ित होने का दिखावा कर रहा है।

भारत ने कहा कि अपने एक छोटे से इतिहास में पाकिस्तान आतंक का पर्याय हो गया है। दुनिया को मानवाधिकार पर पाकिस्तान के ज्ञान की जरूरत नहीं है, जो अपनी ही धरती पर मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रहा है। गंभीर ने कहा कि पाकिस्तान अब टेररिस्तान बन गया है। भारत का पड़ोसी देश आतंक को पैदा कर रहा है और वैश्विक स्तर पर इसे फैला रहा है।

पाकिस्तान ने फिर अलापा कश्मीर राग

संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान ने एक बार फिर कश्मीर पर अपना पुराना राग अलापा है। आम सभा में प्रधानमंत्री शाहिद अब्बासी ने दावा किया कि कश्मीर मसले पर भारत ने सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव का पालन नहीं किया है। वहीं, दूसरी तरफ ब्रिक्स मंत्रिस्तरीय मीटिंग के मंच से सुषमा स्वराज ने कहा है कि दक्षिण एशिया में ऐसे देश हैं, जो आतंकवाद को शरण दे रहे हैं।

संयुक्त राष्ट्र आम सभा में पाक पीएम शाहिद अब्बासी ने कहा, 'भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव को लागू करने से इनकार कर दिया, जो कश्मीर में जनमत-संग्रह की बात करता है। कश्मीरियों को अपनी किस्मत का फैसला करने की इजाजत देने के बजाय भारत ने वहां 7 लाख सुरक्षाबलों की तैनाती कर दी।

अंतरराष्ट्रीय जांच की मांग

इतना ही नहीं पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने ये भी आरोप लगाया कि कश्मीर में बेकसूरों को निशाना बनाया जा रहा है। अब्बासी ने घाटी में पैलेट गन के इस्तेमाल का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने अपने भाषण में कहा कि भारत कश्मीर में पैलेट गन का इस्तेमाल बंद करे। अब्बासी ने कश्मीर घाटी में मानवाधिकार उल्लंघन का आरोप लगाते हुए कहा, 'पाकिस्तान कश्मीर में भारत के क्राइम की अंतरराष्ट्रीय जांच की मांग करता है'।

कश्मीर पर विशेष दूत

शाहिद अब्बासी ने एक तरफ जहां ये कहा कि पाकिस्तान और भारत के बीच हर मसले पर बातचीत के रास्ते खुले हैं। वहीं उन्होंने संयुक्त राष्ट्र से कश्मीर मसले पर एक विशेष दूत नियुक्त किए जाने की मांग भी की।

जांच आयोग जाए कश्मीर

इसके अलावा शाहिद अब्बासी ने संयुक्त राष्ट्र और अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठनों से कश्मीर में एक जांच आयोग भेजने की मांग की। अब्बासी ने कहा कि आयोग जांच करे और पीड़ितों को इंसाफ दिलाना का काम करे।

आतंकी देश घोषित हो

न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय के बाहर बलूचिस्तान के समर्थन में नारेबाजी की गई। साथ ही पाकिस्तान के खिलाफ नारे लगाए गए। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने बलूचिस्तान और सिंध की आजादी की मांग करते हुए पाकिस्तान को आतंकवादी देश घोषित करने की मांग की।

 


कमेंट करें