नेशनल

आतंकियों की मदद कर रही है PAK आर्मी, DGMO लेवल की बातचीत में भारत का आरोप

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
240
| अक्टूबर 30 , 2017 , 17:01 IST

भारत और पाकिस्तान के डायरेक्टर जनरल ऑफ मिलिट्री ऑपरेशंस यानी DGMO के बीच सोमवार दोपहर हॉटलाइन पर बातचीत हुई। इसकी गुजारिश पाकिस्तान ने की थी। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, दोनों देशों के DGMO के बीच इस चर्चा का शेड्यूल तय नहीं था। पाकिस्तान ने भारत के डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल एके. भट्ट से कहा कि भारत एलओसी पर बिना उकसावे के फायरिंग कर रहा है।

इसके जवाब में भारत ने कहा कि पाकिस्तान आर्मी आतंकियों की घुसपैठ में मदद कर रही है और इंडियन आर्मी इसका जवाब दे रही है। भट्ट ने अपने पाकिस्तानी काउंटर पार्ट से साफ कहा कि इंडियन आर्मी प्रोफेश्नल तरीके से काम करती है और कभी सिविलियंस को नुकसान नहीं पहुंचाती।

सितंबर में भी हुई थी बातचीत

सितंबर में भी भारत और पाकिस्तान के बीच डीजीएम लेवल की बातचीत हुई थी। तब भारत ने कहा था कि पाकिस्तान एलओसी पर घुसपैठ को फौरन रोके। भारत के इस आरोप पर पाकिस्तान ने कहा था- घुसपैठ के सबूत दिए जाएं। भारत के डीजीएमओ ने एलओसी पर आतंकियों के मूवमेंट के बारे में विरोध दर्ज कराया था। पाकिस्तान ने इससे इनकार कर दिया था।

पाकिस्तान ने की थी स्कूल पर फायरिंग

जुलाई में पाकिस्तान आर्मी ने राजौरी जिले के नौशेरा में एक स्कूल पर फायरिंग की थी। इस दौरान करीब 200 बच्चे स्कूल में ही फंस गए थे। बाद में भारतीय सेना ने इन बच्चों को बुलेट प्रूफ गाड़ियों में उनके घर तक पहुंचाया था। इसके बाद दोनों देशों के डीजीएमओ की बातचीत हुई थी। भारत ने स्कूली बच्चों और सिविलियन्स को टारगेट बनाए जाने पर सख्त आपत्ति दर्ज कराई थी। भारत ने पाकिस्तान के डीजीएमओ से कहा था कि वो अपने ट्रूप्स पर सख्ती से कंट्रोल करें। उन्हें किसी भी गैर जिम्मेदाराना कदम उठाने से रोंके। भारत ने पाकिस्तान को तब भी साफ तौर पर बता दिया था कि अगर पाकिस्तान की तरफ से फायरिंग और घुसपैठ की कोशिश होती रही तो भारत की तरफ से भी करारा जवाब दिया जाता रहेगा।


कमेंट करें