इंटरनेशनल

हाफिज सईद को लगा झटका, पाक सरकार ने EC से पार्टी को मान्यता न देने को कहा

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
333
| सितंबर 29 , 2017 , 19:45 IST

लश्कर-ए-तैयबा के सरगना हाफिज सईद की राजनीतिक पार्टी को मान्यता न दिए जाने की सिफारिश पाकिस्तान सरकार ने चुनाव आयोग से की है। साथ ही पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने आतंकी हाफिद सईद की पार्टी को बैन करने की मांग की है। गृह मंत्रालय ने कहा कि किसी भी कीमत पर लश्कर-ए-तैयबा  के मुखिया हाफिज सईद की पार्टी के रजिस्ट्रेशन का समर्थन नहीं किया जा सकता। हाफिद सईद को अमेरिका द्वारा वैश्विक आतंकी घोषित किए जाने के बाद उसने  मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) के नाम से एक राजनीतिक पार्टी बनाई है।

आपको बता दें कि अमेरिका ने सईद पर 10 लाख डॉलर का इनाम भी रखा है। 22 सितंबर को पाकिस्तान के गृह मंत्रालय की ओर से लिखे गए पत्र में निर्वाचन आयोग से लश्कर-ए-तैयबा से संबंधित नई गठित राजनीतिक पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग के आधिकारिक पार्टी के तौर पर पंजीकरण के आवेदन को खारिज करने की मांग की गई है। लश्कर-ए-तैयबा ने ही 2008 के मुंबई आतंकी हमलों को अंजाम दिया था, जिसमें 166 लोगों की मौत हो गई थी।

गृह मंत्रालय का कहना है कि वैचारिक तौर पर मिल्ली मुस्लिम लीग भी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और उससे जुड़े अतिवादी संगठनों जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इनसानियत की तरह है। मंत्रालय के इस पत्र पर टिप्पणी करते हुए मिल्ली मुस्लिम लीग के प्रवक्ता ताबिश कय्यूम ने कहा कि यह गैरकानूनी है। ताबिश ने कहा कि मिल्ली मुस्लिम लीग कोई बस या ट्रक नहीं, जिसे रजिस्ट्रेशन की जरूरत है।

उन्होंने मिल्ली मुस्लिम लीग के तार किसी आतंकी संगठन से जुड़े होने से भी इनकार किया। लश्कर पर पाबंदी के बाद सईद ने जमात-उद-दावा नाम से एक संस्था बनाई है और उसके जरिए कट्टर इस्लाम का प्रचार-प्रसार कर रहा है। फिलहाल, उसे घर में नजरबंद रखा गया है। लेकिन पकिस्तान ने अभी तक उस पर कोई कड़ी कानूनी कार्यवाही नहीं की है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें