नेशनल

AIADMK का बड़ा फैसला, शशिकला को महासचिव पद से हटाया

icon अमितेष युवराज सिंह | 1
888
| सितंबर 12 , 2017 , 12:50 IST

एआईएडीएमके ने मंगलवार को शशिकला को पार्टी के महासचिव पद से हटा दिया है। यह फैसला जनरल काउंसिल की बैठक में लिया गया है। इसके साथ ही टीटीवी दिनाकरन द्वारा लिए गए सभी फैसले भी रद्द कर दिए गए हैं।

इस बीच एआईएडीएमके के नेता और तमिलनाडु सरकार में मंत्री आरबी उदयकुमार ने कहा कि बैठक में यह रिजॉल्यूशन पास हुआ है कि शशिकला को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाए और दिनाकरन द्वारा लिए गए फैसलों के लिए भी पार्टी बाधित नहीं है। उन्होंने कहा कि अम्मा (जयललिता) के द्वारा नियुक्त किये गये सभी पदाधिकारी अपने पद पर बने रहेंगे। अम्मा ही अनंतकाल तक हमारी महासचिव रहेंगी।

उन्होंने कहा कि एआईएडीएमके फिर एकजुट होगा और हम दो पत्तों वाले अपने चुनाव चिह्न को फिर से पाने के की कोशिश करेंगे।

ShashiKALA

बता दें कि, एआईएडीएमके की जनरल काउंसिल की बैठक से पहले शशिकला समर्थक नेताओं ने धमकी दी थी कि अगर शशिकला को हटाने का फैसला लिया गया तो यह मौजूदा सरकार का विधानसभा में फ्लोर टेस्ट के दौरान अपनी हार के लिए मंच तैयार करने वाला फैसला साबित होगा। सोमवार को मद्रास हाइकोर्ट ने बैठक पर रोक लगाने की मांग वाली पार्टी विधायक पी पेटिवल की याचिका खारिज कर दी थी। वह पार्टी में शशिकला के भतीजे टीटीवी दिनाकरण के समर्थक हैं।

गौरतलब है कि, कुछ समय पहले ही मुख्यमंत्री के.पलनीस्वामी और उपमुख्यमंत्री ओ.पन्नीरसेल्वम के नेतृत्व में पार्टी के दो धड़ों के विलय को मंजूरी दी गई है। इस विलय के बाद से ही खबरे आ रही थी की शशिकला को पार्टी से बाहर किया जा सकता है।

शशिकला को पार्टी सुप्रीमो जे.जयललिता के निधन के बाद दिसंबर 2016 में पार्टी महासचिव बनाया गया था।शशिकला ने जेल जाने से पहले अपने भतीजे दिनाकरन को पार्टी उपमहासचिव नियुक्त किया था।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें