नेशनल

दिल्ली: पिता से विवाद के बाद एथलीट ने नेहरु स्टेडियम के हॉस्टल में की आत्महत्या

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1544
| नवंबर 14 , 2018 , 12:07 IST

जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में एक चौका देने वाला आत्महत्या की घटना सामने आई है। खबरों के मुताबिक परविंदर चौधरी नाम के एक युवा एथलिट ने हॉस्टल के कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। स्पोर्टस अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अधिकारी ने बताया कि कल सुबह फोन पर उसका पिता के साथ किसी बात को लेकर विवाद हुआ था।

जिसके बाद उसकी बहन भी बात करने के लिए आई। लेकिन हम उसे बचा नहीं सके। मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि मंगलवार शाम 6.30 बजे ही 18 वर्षीय परविंदर ने आत्महत्या कर ली थी।

साथी खिलाड़ियों की मानें तो परविंदर बहुत हंसमुख किस्म का खिलाड़ी था। हॉस्टल के खिलाड़ियों ने बताया कि जब भी वो मिलते मुस्कुराकर ही मिलते थे।

पुलिस को जांच में पता चला कि परविंदर चौधरी का मंगलवार सुबह अपने पिता से किसी बात पर विवाद हुआ था। इसके बाद से वह पूरे दिन काफी परेशान रहा। फिर शाम को उसने अपना कमर बंद कर किया और काफी देर तक जब कमरे से बाहर नहीं आया तो हॉस्टल में रहने वाले अन्य खिलाड़ियों को शक हुआ।

उन्होंने काफी देर तक दरवाजा खटखटाया, लेकिन दरवाजा नहीं खुला तो पुलिस को सूचना दी गई। हालांकि अभी मौत की वजह का पता नहीं चल सका है। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। पुलिस मृतक पालेंद्र के परिजनों से पूछताछ कर आत्महत्या की वजह पता लगा लगा रही है।

वहीं, भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) के मुताबिक, परविंदर की मंगलवार सुबह के समय अपने पिता से किसी मुद्दे पर बात हुई थी। बताया जा रहा है कि पिता से विवाद भी हुआ था। इसके बाद पालेंद्र की बहन ने भी विवाद के बाबत बात की थी। हादसे की जानकारी मिलते ही हॉस्‍टल प्रशासन तुरंत परविंदर को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल लेकर गया, लेकिन वहां पहुंचते ही उसने दम तोड़ दिया। यह दुर्भाग्य है कि हम परविंदर को नहीं बचा सके।

उधर, परविंदर के पिता महेश पाल का कहना है कि उसने मुझे कुछ पैसे मांगे थे और मैंने पैसे देने का वादा भी किया था। मुझे नहीं पता कि उसने ऐसा क्यों किया? मुझे स्टेडियम के लोगों से कोई शिकायत नहीं है।

अब तो जानकारी पुलिस के हाथ लगी है उससे माना जा रहा है कि पिता के साथ हुए विवाद के बाद ही परविंदर ने आत्महत्या जैसा घातक और बड़ा कदम उठाया। पिता से क्या विवाद या बातचीत हुई? इसकी जानकारी परविंदर की बहन भी दे सकती है, क्योंकि पिता से विवाद के बाद बहन ने जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम के हॉस्टल में जाकर एथलीट भाई से बात की थी। बताया जा रहा है कि तब मामला शांत भी हो गया था।


कमेंट करें