नेशनल

डेयरी प्रोडक्ट में रामदेव की एंट्री, पतंजलि ने लॉन्च किया गाय का दूध, दही और पनीर

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2279
| सितंबर 13 , 2018 , 18:04 IST

योग गुरू बाबा रामदेव के आयुर्वेद और सोशल मीडिया में अपना हाथ आजमाने के बाद अब पतंजलि डेयरी सेक्टर में भी अपने पांव पसारने की तैयारी कर ली है। पतंजलि आयुर्वेद डेयरी सेक्टर में अपनी मौजूदगी बढ़ाने के लिए गुरुवार को गाय के दूध और उनसे बने उत्पादों को लॉन्च किया।

गुरुवार से पतंजलि ने अब दूध, दही, छाछ और पनीर की इंडस्ट्री में भी कदम रख दिया है। योगगुरु रामदेव ने गुरुवार को नई दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में इसका ऐलान किया। गाय के दूध के दाम 40 रुपये प्रति लीटर होंगे, इस तरह यह 2 रुपये प्रति लीटर सस्ता होगा।

पतंजलि को उम्मीद है कि 2020 तक वह इस कैटिगरी में करीब 1,000 करोड़ रुपये का राजस्व पैदा करेगी। पतंजलि ने एक बयान में बताया कि कंपनी ने इसी वित्त वर्ष में डेयरी प्रॉडक्ट्स के जरिए 500 करोड़ रुपये के राजस्व का लक्ष्य रखा है।

योगगुरु रामदेव ने आज कुल पांच नए प्रोडक्ट को लॉन्च किए। रामदेव ने इस मौके पर ऐलान किया कि इस साल दिवाली पर पतंजलि के कपड़े के प्रोडक्ट लॉन्च होंगे। उन्होंने कहा कि कपड़ों में जींस, शर्ट, पैंट, कमीज़, साड़ी, जूते, चप्पल सब कुछ मिलेगा। बता दें कि रामदेव की कंपनी पतंजलि इससे पहले फुटकर सामान, घरेलू सामान की इंडस्ट्री में अपना दबदबा मनवा चुकी है।

अब दूध प्रोडक्ट्स की इंडस्ट्री में आने के साथ ही रामदेव का सीधा मुकाबला अमूल और मदर डेयरी जैसी बड़ी कंपनियों से होगा। पंतजलि की आयुर्वेदिक दवाइयां, टूथपेस्ट, मसाले आदि मार्केट में अपनी मजबूत जगह बना चुके हैं। पतंजलि का टर्नओवर भी पिछले कई सालों में लगातार बढ़ा है।

पनी ने दिल्ली-एनसीआर, मुंबई, पुणे और राजस्थान में दूध की आपूर्ति के लिए 56,000 रिटेलर्स और वेंडर्स से करार किया है और उसे 2019-2020 में प्रति दिन 10 लाख लीटर गाय के दूध की आपूर्ति की उम्मीद है। पतंजलि ने अपने बयान में कहा है कि उसने पहले ही दिन 4 लाख लीटर गाय के दूध का उत्पादन किया है। कंपनी जल्द ही फ्लेवर्ड मिल्क भी लॉन्च करेगी।

इसे भी पढ़ें-: एक बार फिर मर्यादा भूले संजय निरूपम, पीएम मोदी को बताया ‘अनपढ़-गंवार’

पतंजलि का दावा है कि गाय के दूध को उपलब्ध कराने के लिए करीब 1 लाख किसान/पशुपालक उसके साथ जुड़े हैं। कंपनी का दावा है कि अगले साल नए उत्पादों की लॉन्चिंग से करीब 5 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा।


कमेंट करें