इंटरनेशनल

शर्मनाक! सीरिया की यह तस्वीर पूरी दुनिया के लिए शर्म की बात है...

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1526
| अक्टूबर 23 , 2017 , 19:20 IST

माफ करें, हम यह भयावह तस्वीर आपको नहीं दिखाना चाहते हैं। लेकिन हम पेशेगत मजबूरी की वजह से यह शर्मनाक तस्वीर आपको दिखा रहे हैं। शर्मनाक है यह तस्वीर पूरी दुनिया के लिए।

Syriya

सीरिया में सिविल वॉर से जुड़ी हर दिन एक भयानक तस्वीर सामने आ रही है। रविवार को यहां के हमौरिया शहर में एक बच्ची की कुपोषण के चलते मौत हो गई। शनिवार को बच्ची के पेरेंट्स इलाज के लिए उसे एक क्लीनिक पर लेकर पहुंचे थे। 34 दिन की इस बच्ची का वजन सिर्फ 1.9 किलो था। बता दें, सीरिया में पिछले 7 साल से जारी सिविल वॉर के चलते विद्रोहियों वाले इलाकों में फूड की सप्लाई नहीं हो रही। ऐसे में सैकड़ों बच्चे कुपोषण का शिकार हो रहे हैं।

इतना भी दम नहीं कि रो सके

ये मामला घौटा रीजन के हमौरिया शहर का है। सहर दोफदा नाम की इस बच्ची को लेकर इसे पेरेंट्स यहां के एक क्लीनिक पहुंचे थे।

Syriya 3

इसी दौरान कवरेज कर रहे एक रिपोर्टर ने इसकी फोटोज कैमरे में कैद कीं। ये बच्ची बिल्कुल हड्डियों का ढांचा नजर आ रही थी। रिपोर्टर ने बताया कि बच्ची रोने की कोशिश कर रही थी, लेकिन उसके शरीर में इतनी ताकत भी नहीं थी कि वो रो भी सके।

क्लीनिक में जब उसका वजन किया गया, तो सिर्फ 1.9 किलो निकला। इस बच्ची का डायपर भी उसके शरीर के से बड़ा लग रहा था। कुपोषण की समस्या से जूझ रही सहर की मां भी उसे अपना दूध पिलाने में सक्षम नहीं है। वहीं उसके पिता की कोई इनकम नहीं कि वो उसे खरीदकर दूध और सप्लीमेंट्स दे सके।

Syriya 5

लिहाजा, एडमिट होने के दूसरे ही दिन बच्ची की मौत हो गई। सीरिया में ऐसे सिर्फ एक सहर का हाल नहीं है। सैकड़ों बच्चे ऐसे ही कुपोषण का शिकार हैं। सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने बताया कि सहर की मौत के बाद ही घौटा में कुपोषण के ही चलते एक और बच्चे की मौत हो चुकी है। ऑब्जर्वेटरी के मुताबिक, यहां के लोग फूड सप्लाई की जबरदस्त कमी से जूझ रहे हैं। मार्केट में जो सामान मौजूद है, उनकी कीमत बहुत ज्यादा है।

 

 

 


कमेंट करें