बिज़नेस

MasterCard ने की शिकायत, राष्ट्रवाद का नाम देकर Rupay कार्ड को प्रमोट कर रहे मोदी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1767
| नवंबर 2 , 2018 , 18:24 IST

दुनिया के दूसरे सबसे बड़े पेमेंट प्रोसेसर मास्टरकार्ड ने अमेरिकी सरकार से भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शिकायत की है। मास्टरकार्ड का आरोप है कि पीएम मोदी घरेलू पेमेंट नेटवर्क रुपे को ‘राष्ट्रवाद’ का नाम देकर प्रमोट कर रहे हैं। उनकी इस नीति से विदेशी पेमेंट कंपनियों को नुकसान हो रहा है।

वीजा-मास्टरकार्ड के कारोबार पर असर पड़ा

आंकड़ों के मुताबिक, पीएम मोदी पिछले कई साल से घरेलू पेमेंट नेटवर्क रुपे को बढ़ावा दे रहे हैं। इससे अमेरिकी पेमेंट कंपनियों मास्टरकार्ड और वीजा के कारोबार पर बुरा असर पड़ रहा है। इस वक्त भारत में 50 करोड़ से ज्यादा डेबिट और क्रेडिट कार्डधारक रुपे पेमेंट सिस्टम का इस्तेमाल कर रहे हैं।

मास्टरकार्ड ने अमेरिकी सरकार को बताया, ‘‘पीएम मोदी ने सार्वजनिक रूप से कहा था कि रुपे पेमेंट सिस्टम का इस्तेमाल देश की सेवा करने जैसा है। उन्होंने कहा था कि इस पेमेंट सिस्टम में लगने वाली ट्रांजेक्शन फीस देश में ही रहेगी, जिससे सड़क, स्कूल और अस्पताल बनाने में मदद मिलेगी। मास्टरकार्ड ने अमेरिकी सरकार से कहा, ‘‘पीएम मोदी ने 21 जून को रुपे कार्ड इस्तेमाल करने को राष्ट्रवाद करार दिया। उन्होंने दावा किया था कि यह एक तरह से देश सेवा करने जैसा ही है। इससे रुपे के ग्राहक बढ़े और हमें काफी ज्यादा नुकसान हो रहा है।

सूत्रों के मुताबिक, रुपे पेमेंट सिस्टम ट्रांजेक्शन फीस लेता है, लेकिन वह मास्टरकार्ड और वीसा से आधी है। हालांकि, अमेरिकी पेमेंट कंपनियों ने भी ट्रांजेक्शन फीस घटाई है, लेकिन सार्वजनिक रूप से उसका खुलासा नहीं किया।


कमेंट करें