नेशनल

चीन सीमा पर ITBP के जवानों के साथ पीएम मोदी ने मनाई दीपावली

राजू झा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1474
| नवंबर 7 , 2018 , 13:03 IST

दीपावली के शुभ अवसर पर पीएम मोदी भारत चीन सीमा पर हर्षिल आर्मी कैंप में सेना और आइटीबीपी के जवानों की हौसलाअफजाई करने के लिए पहुंचे। इस मौके पर उन्होंने को मिठाई खिलाकर दीपावली की बधाई दी। इसके बाद वह केदारनाथ धाम पहुंचे और बाबा के दर्शन के साथ ही निमार्ण कार्यों का निरीक्षण किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बुधवार को एक दिवसीय उत्तराखंड दौरे को लेकर जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर सुरक्षा व्यवस्थाओं को चाक चौबंद के साथ हाई सिक्योरिटी पर रखा गया। आसमान से लेकर जमीन तक सुरक्षा व्यवस्थाओं खड़ा किया गया है। खुफिया एजेंसियों को भी अलर्ट पर रखा गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली से सेना के विशेष विमान से 6: 47 बजे जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर पहुचे। जौलीग्रांट एयरपोर्ट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 7:10 पर सेना के 4 एम आई -17 हेलीकॉप्टर की सुरक्षा घेरे में एयरपोर्ट से उत्तरकाशी जिले में भारत चीन सीमा पर स्थित हर्षिल के लिए रवाना हुए।

जवानों संग दीपावली मनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह 7.55 पर हर्षिल पहुंचे। जहां हेलीपैड के निकट गंगा किनारे छोटे शिव मंदिर में प्रधानमंत्री ने पूजा अर्चना की। गंगा को प्रणाम किया। इसके बाद पीएम मोदी महार रेजिमेंट के कैंप में पहुंचे। जहां आर्मी जवानों ने पीएम का भव्य स्वागत किया।

पीएम मोदी ने जवानों को दी बधाई

हर्षिल में सेना के जवानों को पीएम मोदी ने दीपावली की दी बधाई दी और मिठाई खिलाई। इस दौरान पीए मोदी आइटीबीपी के अधिकारियों व जवानों को भी मिले तथा दीपावली की बधाई दी। आर्मी सभागार में पीएम मोदी ने जवानों से संवाद किया तथा उनके साथ फोटो खिंचवाई।

साथ ही चीन सीमा से जुड़े महत्वपूर्ण पहलुओं पर सैन्य अधिकारियों से पीएम मोदी ने ली जानकारी। पीएम को मिलने के लिए हर्षिल और बगोरी के ग्रामीण भी पहुंचे। बगोरी के प्रधान भवान सिंह के नेतृत्व में ग्रामीणो ने भेड़ की ऊन से बनाई गई शाल भेंट की । इसके साथ ही गांव की महिलाओं ने पीएम को फूल दिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सेना और आइटीबीपी के जवानों को संबंधित करते हुए कहा कि रक्षा के क्षेत्र में भारत उन्नति के पथ पर है। भारतीय सेना को यूएन शांति अभियान में पूरे विश्व से प्रशंसा मिल रही है। सेना के जवान लोगों में सुरक्षा व निडरता की भावना फैलाते हैं। 125 करोड़ भारतीयों के भविष्य और सपनों की सुरक्षा करते हैं।

पीएम मोदी ने ग्रामीण से कहा- समस्या को लेकर मिलने के लिए दिल्ली आए

पीएम ने ग्रामीणों से कहा कि वे अपनी समस्या को लेकर उन से मिलने के लिए दिल्ली आ सकते हैं। इसके बाद पीएम मोदी 9.15 बजे हर्षिल से रवाना हुए। गौरतलब है कि प्रशासन को इस पूरे कार्यक्रम से दूर रखा गया था। जिलाधिकारी को भी नहीं दी गई थी इस कार्यक्रम की जानकारी। सुरक्षा के लिहाज से पीएम मोदी का कार्यक्रम बेहद सीक्रेट रखा गया था।

गौरतलब है कि पीएम मोदी हर साल दीपावली के दिन सीमांत क्षेत्र के दुर्गम इलाकों में जाकर सेना के जवानों के साथ मुलाकात कर उनकी हौसलाअफजाई करते हैं। इसी के तहत इस बार उत्तराखंड के सीमांत क्षेत्र में वह सेना के जवानों से मिलने पहुंचे।

बता दें कि उसके बाद पीएम मोदी केदारनाथ धाम पहुंचे। यहां राज्यपाल बेबी रानी मौर्य, सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, सांसद रमेश पोखरियाल निशंक ने उनका स्वागत किया।

केदारनाथ मंदिर में किया पूजा 

हेलीपैड से केदारनाथ मंदिर तक पहुंचने के दौरान उन्होंने रास्ते में आपदा के बाद हुए निर्माण कार्यों का निरीक्षण भी किया। इसके बाद वह केदारनाथ मंदिर में पूजा के लिए गए। पूजा के बाद वह केदारपुरी में हुए निर्माण कार्यों का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने आपदा से पहले और आपदा के बाद के निर्माण कार्यों से संबंधित फोटो प्रदर्शनीका अवलोकन भी किया। साथ ही ब्रह्मवाटिका का भी निरीक्षण किया।

पीएम मोदी केदारपुरी में एक घंटा 45 मिनट तक रहे। यहां उन्होंने करीब पंद्रह मिनट बाबा केदार की पूजा की। इसके बाद सुबह 10.42 बजे निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। 11.48 बजे वह केदारनाथ से रवाना हो गए। निरीक्षण के दौरान कई बार वह एटीपी वाहन पर भी बैठे। तीर्थ पुरोहितों के लिए बनाए गए मॉडल हाउस का उन्होंने करीब सात मिनट तक निरीक्षण किया। साथ ही मंदाकिनी नदी में बाढ़ सुरक्षा के कार्यों को भी देखा।


कमेंट करें