नेशनल

देश को मिला 'इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक', पीएम मोदी ने किया उद्धाटन, जानिए बड़ी बातें

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
2754
| सितंबर 1 , 2018 , 17:19 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को राजधानी दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में 'इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक' यानी IPPB का उद्धाटन किया। IPPB को लॉन्च करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि एक सितम्बर 2018 को देश के इतिहास में एक अभूतपूर्व सुविधा की शुरुआत होने के रूप में याद किया जाएगा। पीएम ने कहा कि हमारी सरकार देश के बैंकों को गरीब के दरवाजे पर लेकर आ गई है।

पीएम मोदी ने कहा कि IPPB किसानों के लिए भी एक बड़ी सुविधा साबित होगा। प्रधानमंत्री फसल बीमा जैसी योजनाओं को इससे विशेष बल मिलेगा। उन्होने कहा कि पोस्ट पेमेंट बैंक के बाद अब योजनाओं की क्लेम राशि भी घर बैठे ही मिला करेगी। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत बेटियों के नाम पर पैसा बचाने की मुहिम को भी गति देंगे।

NPA पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश में फोन बैंकिंग का प्रसार उस समय उतना नहीं हुआ था, लेकिन नामदारों ने फोन पर बैंकिंग और फोन पर कर्ज दिलवाने शुरू कर दिए थे। जिस भी बड़े उद्योगपति को लोन चाहिए होता था, वो नामदारों से बैंक को फोन करवा देता था। बैंक वाले फिर उस व्यक्ति या उसकी कंपनी को झट से करोड़ों रुपये का कर्ज दे देते थे। सारे नियम और कायदे-कानून से बड़ा उस नामदार परिवार से आने वाला फोन बन गया था। कांग्रेस और उसके नामदारों की फोन बैंकिंग ने देश को बहुत नुकसान पहुंचाया।

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के बाद से लेकर साल 2008 तक देश के बैंकों ने 18 लाख करोड़ रुपये की राशि ही लोन के तौर पर दी थी. लेकिन साल 2008 के बाद के छह वर्षों में ये राशि बढ़कर 52 लाख करोड़ रुपये हो गई यानी जितना लोन बैंकों ने आजादी के बाद दिया था, उसका दोगुना लोन पिछली सरकार के छह साल में बांट दिया।

IPPB की देश भर में 650 शाखाएं और 3250 एक्सेस प्वाइंट होंगे। देश भर में सभी 1.55 लाख डाकघर 31 दिसंबर, 2018 तक IPPB प्रणाली से जुड़ जाएंगे। 17 करोड़ खातों के साथ यह अपनी बैंकिंग शुरू करेगा। इससे ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को बड़े पैमाने पर फायदा होगा। IPPB बैंकिंग सेवा डाकघरों के लिए मील का पत्थर साबित होगा।

P

IPPB बचत और चालू खातों, धन हस्तांतरण, प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण, बिल और उपयोगिता भुगतान और उद्यम एवं वाणिज्यिक भुगतान जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराएगा, इन सुविधाओं एवं इससे जुड़ी अन्य संबंधित सेवाओं को बैंक के अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी प्लेटफॉर्म का उपयोग करते हुए बहु-विकल्प माध्यमों जैसे काउंटर सेवाएं, माइक्रो-एटीएम, मोबाइल बैंकिंग एप, एसएमएस और आईवीआर के जरिए उपलब्ध कराया जाएगा।

नहीं लगेगा अतिरिक्त चार्ज

देश के अन्य बैंक अपने एटीएम कार्ड और इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा के लिए चार्ज करते हैं,  लेकिन पोस्ट ऑफिस पेमेंट बैंक के उपभोक्ता को एटीएम लेने के लिए आपको किसी तरह का कोई शुल्क नहीं देना होगा। इसी तरह मोबाइल अलर्ट के लिए भी बैंक कोई शुल्क नहीं लेगा। अभी ज्यादातर बैंक 25 रुपए से लेकर 50 रुपए तक एसएमएस अलर्ट के लिए शुल्क वसूलते हैं। इसी तरह तिमाही बैलेंस मेंटेन करने के लिए भी कोई चार्ज नहीं देना पड़ेगा।

घर बैठे खुलेगा बैंक खाता

आपको बता दें कि इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक भारतीय डाक विभाग की तरफ से शुरू किया गया है। इसमें आप सेविंग्स अकाउंट के साथ करंट अकाउंट भी खुलवा सकते हैं। इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक न सिर्फ आपको बचत खाते पर ज्यादा ब्याज देगा, बल्क‍ि आप अपने घर पर बैठ कर ही बैंक खाता खुलवा सकेंगे।

 


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें