नेशनल

शौरी, सिन्हा का पीएम पर बड़ा आरोप, कहा राफेल घोटाले के लिए मोदी 'दोषी'

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1440
| सितंबर 12 , 2018 , 09:39 IST

राफेल सौदे को लेकर यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी और प्रशांत भूषण ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर गंभीर आरोप लागाए हैं। दोनों ने राफेल सौदे में पीएम मोदी की 'व्यक्तिगत संलिप्तता' का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि कि राफेल सौदे में अपने बचाव को केंद्र सरकार सेना का सहारा ले रही है। तीनों का आरोप है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व्यक्तिगत रूप से घोटाले के 'गुनहगार' हैं।

प्रधानमंत्री ने सौदे को एकतरफा अंतिम रूप देकर, रक्षा खरीद के सभी नियमों को ताक पर रखकर 'राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता किया है। प्रधानमंत्री पर राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता करने का आरोप लगाया और कहा कि 126 विमान खरीद के प्रस्ताव को कम कर 36 कर दिया गया। वायुसेना के उप प्रमुख एयर मार्शल एसबी देओ की राफेल पर हालिया टिप्पणी का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि पूरी तरह उजागर होने के बाद सरकार अब सौदे के बचाव में सेना के वरिष्ठ अधिकारियों का सहारा लेने लगी है।

यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी दोनों ने कहा कि सरकार ने देश के सबसे बड़े रक्षा घोटाले में मोदी की संलिप्तता को बचाने के लिए झूठ का पुलिंदा बुना है। सिन्हा ने कहा कि भारत के हिसाब से कुछ करना सीक्रेट नही हैं। जैसा यूपीए के वक़्त था अभी भी है। सारा ब्लैक मनी बैंक में है किसी न किसी के खाते में है। नोटबंदी पूरी तरफ से फ्लॉप रही है। ब्लैक मनी को सफेद किया गया।

अरुण शौरी ने कहा कि उन्होंने जो भी स्पष्टीकरण दिया, उसने सरकार को झूठ के जाल में फंसाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि मोदी को संप्रग सरकार के सौदे को पलटने का कोई अधिकार नहीं था, जो कि संबंधित लोगों द्वारा किया गया मुश्किल काम था और यह सात-आठ वर्षो की मेहनत का परिणाम था।

प्रशांत भूषण  ने कहा कि एयरफोर्स ने 126 विमान लेने को कहा था। 2007 में टेंडर जारी किया गया। मोदी सरकार ने पुराने डील पर बात की थी। 10 तारीख की सुबह कुछ और था और शाम को नई डील हो गई।

कांग्रेस भी राफेल सौदे को लेकर लगातार हमलावर बनी हुई है। कांग्रेस का आरोप है कि इस सौदे में बड़े पैमाने पर अनियमितता हुई है। कांग्रेस का दावा है कि सरकार हर विमान 1600 करोड़ रुपये की लागत पर खरीद रही है, जबकि पूर्व की यूपीए सरकार के समय कीमत 526 करोड़ रुपये तय की गई थी। सरकार ने कांग्रेस के इस आरोप को खारिज कर दिया है।


कमेंट करें