राजनीति

नरेन्द्र मोदी ने राजस्थान में दिया नया मंत्र, PM का मतलब पोषण मिशन

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1332
| मार्च 8 , 2018 , 16:33 IST

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी राजस्थान में एक रैली को संबोधित करने झुंझुनूं पहुंचे। प्रधानमंत्री का यह कार्यक्रम बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की थीम पर निर्धारित था। इस दौरान पीएम ने महिलाओं और बच्चों से भी बात की। इस कार्यक्रम में नरेन्द्र मोदी के साथ सूबे की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे व अन्य नेता भी मौजूद रहे।

पीएम मोदी ने इससे पहले गुरुवार सुबह ट्विटर के जरिए महिला दिवस की बधाई दी थी और वीडियो भी जारी किए थे। संबोधन से पहले पीएम मोदी ने वहां मौजूद कई छोटी बच्चियों से बात की।

पीएम ने यहां महिलाओं से सीधा संवाद किया। प्रधानमंत्री यहां पर राष्ट्रीय पोषण मिशन की शुरुआत की। इस मौके पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने पीएम मोदी को एक किताब भेंट की। प्रधानमंत्री ने इस दौरान महिलाओं के क्षेत्र में अच्छा काम करने वाले जिलों को सम्मानित किया।

रैली में पीएम ने कहा कि मेरे विरोधी जितना भी मुझे भला-बुरा कहें उनकी मर्जी है बस ऐसा करें कि अगर पीएम बोले तो उसका मतलब नरेंद्र मोदी (प्रधानमंत्री) नहीं पोषण मिशन होना चाहिए। इससे इस मिशन को बढ़ाने में काफी मदद मिलेगी। हमें कुपोषण के खिलाफ जंग लड़नी होगी।

पीएम ने कहा कि झुंझनू झुकना नहीं जानता मुश्किलों से जूझना जानता है। उन्होंने कहा कि हमारे देश में नारी को पूजा जाता है लेकिन ऐसा क्या हुआ कि बेटी को बचाने के लिए हाथ पैर जोड़ने पड़ रहे हैं। सरकारों को बजट निकालना पड़ रहा है. पीएम ने कहा कि आज जब बालक और बालिकाओं के जन्म दर में अंतर दिखता है तो काफी दुख होता है।

उन्होंने कहा कि अब लोगों को तय करना होगा कि जितने बेटे पैदा होंगे, उतनी ही बेटियां पैदा होंगी। जितना बेटा पढ़ेगा तो उतनी ही बेटी भी पढ़ेगी। इसकी शुरुआत हमें आज से ही करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर घर में सास कह दे कि हमें बेटी चाहिए तो किसी की हिम्मत नहीं है कि बेटी को पैदा होने से रोक दे। बेटियों के जन्म के लिए जागरुकता फैलानी होगी।

पीएम के दौरे से पहले मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने झुंझुनूं पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस प्रकार दिसंबर 2014 में झुंझुनूं से बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ आंदोलन राज्यभर में शुरू हुआ था, उसी उत्साह के साथ महिला दिवस पर इस अभियान के विस्तार का कार्यक्रम किया जा रहा है।

केंद्रीय बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने कहा कि 2014 में जब सरकार बनी तो पीएम मोदी ने उन्हें बुलाकर कहा कि देश में महिलाओं की स्थिति को लेकर वह काफी चिंतित हैं उनके लिए कुछ करना चाहिए। हमारी सरकार ने महिलाओं के लिए काफी काम किए हैं।

देश में लड़कों के मुकाबले लड़कियों को पैदा होने के अनुपात में काफी सुधार हुआ है। हमारी सरकार ट्रैफिकिंग को रोकने के लिए बिल लाने जा रही है। मेनका गांधी ने कहा कि हमारी सरकार के आने के बाद देश में 18 साल से कम उम्र की लड़कियों के मामले में कमी आई है।

इसे भी पढ़ें-: नगालैंड में बनी NDA की सरकार, नेफ्यू रियो ने चौथी बार ली मुख्यमंत्री पद की शपथ

प्रधानमंत्री ने इस दौरान ट्विटर पर लोगों को महिला दिवस के बारे में कुछ लिखने की अपील की है। उन्होंने इसके लिए #SheInspiresMe हैशटैग का उपयोग करने को कहा।


कमेंट करें